लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने किया Tweet, धोनी और विराट से की ये अपील

ट्विटर के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय खिलाड़ियों से एक गुजारिश की है.  

लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने किया Tweet, धोनी और विराट से की ये अपील
प्रधानमंत्री ने क्रिकेटरों से कहा कि आप क्रिकेट के मैदान में अभूतपूर्व रिकॉर्ड बनाते हैं. (फोटो साभार: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजनीति, उद्योग, खेल और फिल्म जगत समेत अलग-अलग क्षेत्रों के प्रभावशाली लोगों से मतदाताओं को जागरूक करने के लिए आगे आने की बुधवार को अपील की और कहा कि सब लोग मिलकर यह दिखा दें कि इस बार अभूतपूर्व मतदान होगा जो देश के चुनावी इतिहास के पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ देगा.

प्रधानमंत्री ने क्रिकेटरों से कहा कि आप क्रिकेट के मैदान में अभूतपूर्व रिकॉर्ड बनाते हैं, अब आप 130 करोड़ भारतीयों को मतदान का नया रिकॉर्ड बनाने में योगदान देने के लिये प्रेरित करें. उन्होंने क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, ओलंपिक पदक विजेता योगेश्वर दत्त, पहलवान सुशील कुमार, बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधू और सायना नेहवाल समेत खेल जगत की हस्तियों से भी मतदाताओं को जागरूक बनाने में योगदान देने की अपील की.

उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली, अनिल कुंबले, वीरेन्द्र सहवाग के अलावा फोगाट बहनों, बजरंग पुनिया, नीरज आदि से भी जागरूकता फैलाने में अपना योगदान देने को कहा . कुश्ती से जुड़े खिलाड़ियों से मोदी ने अपील कि हमने आपको दंगल के मैदान में देखा है, हम आपसे अनुरोध करते हैं कि लोगों को चुनावी दंगल में हिस्सेदारी के लिये प्रेरित करें.

लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई तक, नतीजे 23 मई को  

लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में होगा और मतों की गिनती 23 मई को होगी. 91 सीटों के लिए (20 राज्यों में) मतदान 11 अप्रैल को, 97 सीटों के लिए (13 राज्य) मतदान 18 अप्रैल को, 115 (14) के लिए 23 अप्रैल को, 51 (सात) के लिए छह मई को, 59 (सात) के लिए मतदान 12 मई को और 59 सीटों (आठ राज्य) के लिए मतदान 19 मई को होगा.

INDvsAUS: टीम इंडिया की 3 कमजोरियां उजागर, वर्ल्ड कप के लिए चिंता बढ़ी

इस चुनाव में मतदाताओं की संख्या लगभग 90 करोड़ होगी, जो 2014 के 81.45 करोड़ से अधिक है. इसमें से कोई 1.50 करोड़ पहली बार मतदाता बने हैं, जिनकी उम्र 18-19 साल है.

चुनाव के लिए लगभग 10 लाख मतदान केंद्र होंगे, जो 2014 से एक लाख अधिक है. चुनाव के लिए सभी मतदान केंद्रों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के साथ कुल 17.4 लाख वीवीपैट इस्तेमाल किए जाएंगे.

 (इनपुट-एजेंसियां)