Rohit Sharma: कप्तान रोहित ने न्यूजीलैंड के 3-0 से सफाए के बाद दिया बड़ा बयान, इस खिलाड़ी को बताया जीत का असली हीरो
topStories1hindi1543045

Rohit Sharma: कप्तान रोहित ने न्यूजीलैंड के 3-0 से सफाए के बाद दिया बड़ा बयान, इस खिलाड़ी को बताया जीत का असली हीरो

IND vs NZ, 2023: भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने मंगलवार को न्यूजीलैंड का तीन मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से सफाया करने के बाद बड़ा बयान दिया है. कप्तान रोहित शर्मा ने एक खिलाड़ी को टीम इंडिया की जीत का सबसे बड़ा और असली हीरो बताया है. बता दें कि भारत ने श्रीलंका को वनडे सीरीज में 3-0 से हराने के बाद न्यूजीलैंड को भी इसी अंतर से तीन मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से पराजित किया है. 

Rohit Sharma: कप्तान रोहित ने न्यूजीलैंड के 3-0 से सफाए के बाद दिया बड़ा बयान, इस खिलाड़ी को बताया जीत का असली हीरो

Rohit Sharma Statement: भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने मंगलवार को न्यूजीलैंड का तीन मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से सफाया करने के बाद बड़ा बयान दिया है. कप्तान रोहित शर्मा ने एक खिलाड़ी को टीम इंडिया की जीत का सबसे बड़ा और असली हीरो बताया है. बता दें कि भारत ने श्रीलंका को वनडे सीरीज में 3-0 से हराने के बाद न्यूजीलैंड को भी इसी अंतर से तीन मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से पराजित किया है. भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरा और अंतिम मैच यहां 90 रन से जीता है. न्यूजीलैंड को तीन मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 से पीटने के बाद भारत आईसीसी वनडे रैंकिंग में 114 अंक लेकर दुनिया की नंबर-1 टीम बन गया है. 

कप्तान रोहित ने न्यूजीलैंड के 3-0 से सफाए के बाद दिया बड़ा बयान

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने मैच के बाद कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो हम रैंकिंग को लेकर बहुत अधिक बात नहीं करते. यह मैच जीतने से जुड़ा है और जब हम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच खेलेंगे तो हमारा रवैया अलग नहीं होगा. यह आसान चुनौती नहीं होगी, लेकिन हम उसके लिए तैयार हैं.’ रोहित शर्मा ने कहा, ‘पिछले छह वनडे मैच में हमने सभी विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया. बल्ले और गेंद से हमने निरंतरता बनाए रखी.’ भारत ने तीसरे वनडे मैच में मोहम्मद सिराज और मोहम्मद शमी की तेज गेंदबाजी जोड़ी को आराम दिया था और उनकी जगह यजुवेंद्र चहल और उमरान मलिक को प्लेइंग इलेवन में रखा था.

कप्तान रोहित ने इस खिलाड़ी को बताया जीत का असली हीरो

रोहित ने कहा, 'न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे वनडे में 9 विकेट पर 385 रन बनाने के बावजूद बल्लेबाजी के लिए अनुकूल विकेट पर जीत को सुनिश्चित नहीं माना जा सकता था. न्यूजीलैंड की टीम 41.2 ओवर में 295 रन पर आउट हो गई थी.' रोहित ने कहा, ‘मोहम्मद सिराज और मोहम्मद शमी के बिना हम दूसरे खिलाड़ियों को मौका देना चाहते थे. हम यजुवेंद्र चहल और उमरान मलिक को टीम में रखना चाहते थे और उन्हें दबाव वाली परिस्थितियों से गुजरने का मौका देना चाहते थे. हमने अच्छा स्कोर खड़ा किया था लेकिन इस मैदान पर आप कोई भी स्कोर सुरक्षित नहीं मान सकते.’

टीम इंडिया के इस खिलाड़ी ने बदल दिया मैच का रुख 

शार्दुल ठाकुर को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया और इस तेज गेंदबाज ने कहा कि वह हमेशा अपना योगदान देने के लिए तैयार रहते हैं. शार्दुल ठाकुर ने इस मैच में सबसे पहले शानदार बल्लेबाजी करते हुए 17 गेंदों पर 25 रन बनाए. शार्दुल ठाकुर ने इसके बाद गेंदबाजी में भी कमाल दिखाते हुए 3 विकेट्स निकाले, जिसने टीम इंडिया की तीसरे वनडे में जीत तय कर दी.  शार्दुल ठाकुर ने कहा, ‘मैं बहुत अधिक नहीं सोचता क्योंकि हम हर परिस्थिति के लिए तैयार रहते हैं चाहे वह बल्लेबाजी में हो या गेंदबाजी में. आज के दौर में हर कोई बल्लेबाजी करना पसंद करता है, क्योंकि यह खेल बल्लेबाजी से अधिक जुड़ा है.’

दुनिया की नंबर एक टीम से भिड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार

इस सीरीज में एक दोहरे शतक सहित दो शतक लगाने वाले शुभमन गिल को 'मैन ऑफ द सीरीज' चुना गया. उन्होंने कहा कि वह अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हैं. गिल ने कहा, ‘जब आप अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो अच्छा महसूस होता है. यह संतोषजनक प्रदर्शन है. मैंने अपने रवैए में बहुत अधिक बदलाव नहीं किया. मैंने केवल अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में बदलने पर ध्यान दिया. मैं परिस्थितियों के अनुसार खेलता हूं और अपने स्कोर को नहीं देखता हूं.’ रोहित शर्मा ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अगले महीने से शुरू होने वाली चार टेस्ट मैचों की सीरीज आसान नहीं होगी, लेकिन कहा कि मेजबान टीम दुनिया की नंबर एक टीम से भिड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

सीरीज हारने पर टूट गए न्यूजीलैंड के कप्तान 

न्यूजीलैंड के कप्तान टॉम लैथम ने कहा कि भले ही सीरीज में उन्हें क्लीनस्वीप का सामना करना पड़ा, लेकिन ये तीन मैच उनके युवा खिलाड़ियों के लिए सीखने की दृष्टि से अच्छा अनुभव रहे. लैथम ने कहा, ‘गेंदबाजी में हमारी शुरुआत अच्छी नहीं रही लेकिन बाद में हमने अच्छा प्रदर्शन किया और उनको 380 रन के आसपास ही रोक दिया. सुनने में भले ही अच्छा नहीं लग रहा हो लेकिन सच्चाई यही है. इसके बाद बल्लेबाजी में हम लगभग 40 ओवर में आउट हो गए जो कि अच्छा नहीं रहा.’ लैथम ने कहा, ‘यह विश्वकप से पहले भारत में हमारा आखिरी अनुभव है और हमारे खिलाड़ियों को इन मैचों में भारत में खेलने का अनुभव मिला. उम्मीद है कि अक्टूबर में वर्ल्ड कप में हमें इसका फायदा मिलेगा.’

भारत की पहली पसंद ZeeHindi.com - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news