close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पुलवामा हमला: मतभेद की खबरों पर 'दादा' ने दी सफाई, कहा- मेरा बयान सचिन के खिलाफ नहीं

गांगुली ने कहा, 'मीडिया में बहुत सारे लोग मेरे बयान को सचिन के खिलाफ बता रहे हैं...'

पुलवामा हमला: मतभेद की खबरों पर 'दादा' ने दी सफाई, कहा- मेरा बयान सचिन के खिलाफ नहीं
सौरभ गांगुली ने सचिन तेंदुलकर से मतभेद की खबरों पर सफाई दी.

नई दिल्ली:  भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान सौरभ गांगुली ने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से मतभेद की खबरों पर सफाई देते हुए कहा है कि उनके बयान का गलत मतलब निकाला जा रहा है. मेरा जवाब उनके बयान के खिलाफ नहीं हैं. सचिन मेरे सबसे अच्छे दोस्तों में शामिल हैं.

गांगुली ने कहा, ''मीडिया में बहुत सारे लोग मेरे बयान को सचिन के खिलाफ बता रहे हैं जबकि मैंने कहा था कि 'मुझे विश्व कप चाहिए.' मेरी प्रतिक्रिया का उनके बयान से कोई लेना-देना नहीं है, और न ही उनके खिलाफ मैंने बयान दिया. वह मेरे 25 सालों में मेरे सबसे अच्छे दोस्तों मेंसे एक हैं.''

गांगुली का यह बयान शनिवार को सचिन तेंदुलकर के उस बयान के बाद आया, जिसमें उन्होंने कहा था कि टूर्नामेंट में 16 जून को पाकिस्तान के साथ न खेलना और उन्हें दो अंक देना पाकिस्तान की मदद करना होगा. सचिन ने कहा था कि इससे उन्हें नफरत होगी.

सचिन ने शुक्रवार को सुनील गावस्कर के विचारों का समर्थन करते हुए कहा था कि भारत को विश्व कप में पाकिस्तान के साथ खेलना चाहिए और उसे हराकर दो अंक हासिल करना चाहिए.

गांगुली ने इससे पहले हरभजन सिंह के विचारों का समर्थन करते हुए कहा था कि पाकिस्तान के साथ सभी तरह के क्रिकेट रिश्तों को खत्म कर देना चाहिए.उन्होंने कहा, "यह 10 टीमों का विश्व कप है और प्रत्येक टीम को हर दूसरी टीम के खिलाफ मैच खेलना है. यदि भारत विश्व कप में एक मैच नहीं भी खेलता है, तो यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं होगा."

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने इन टिप्पणियों के लिए गांगुली की आलोचना की और इसे ध्यान खींचने के लिए किया गया पब्लिक स्टंट बताया.

इस पर गांगुली ने कहा, "मुझे मियांदाद की टिप्पणी पर कोई प्रतिक्रिया नहीं करनी है. मैंने उनकी बल्लेबाजी का आनंद उठाया. मुझे लगता है कि वह पाकिस्तान के शानदार खिलाड़ी थे."

गांगुली ने विश्व कप में भारत को खिताब का प्रबल दावेदार बताया लेकिन साथ ही कहा कि श्रीलंका और वेस्टइंडीज जैसी टीमें वास्तव में अच्छा कर रही हैं और वे चौंका सकती हैं.

(इनपुट-एजेंसी से भी)