close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विराट कोहली ने मैच रैफरी के कमरे में घुस काटा बवाल, कहा-'सजा भी दे दो, मुझे परवाह नहीं'

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में मुंबई इंडियंस के खिलाफ मुकाबला हारने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली गुस्से में मैच रैफरी के कमरे में घुस गए.

विराट कोहली ने मैच रैफरी के कमरे में घुस काटा बवाल, कहा-'सजा भी दे दो, मुझे परवाह नहीं'
बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली गुस्से में मैच रैफरी के कमरे में घुस गए थे. (फोटो साभार: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में मुंबई इंडियंस के खिलाफ मुकाबला हारने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली गुस्से में मैच रैफरी के कमरे में घुस गए थे. कोहली ने खराब अंपायरिंग को लेकर रैफरी से अपमानजनक भाषा में बात की. अंग्रेजी चैनल टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के मुताबिक, मैच की प्रजेंटेशन सेरेमनी के बाद आरसीबी के कप्तान मैच रैफरी मनु नायर के कमरे के अंदर घुसे, जहां उन्होंने गालियां दीं और वह बाहरी लोगों पर भी चिल्ला उठे. इस दौरान विराट ने रैफरी से कहा कि अगर उन्हें आचार संहिता के उल्लंघन के लिए सजा भी दी जाती है तो उन्हें इसकी कोई परवाह नहीं.

मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेले गए आईपीएल-12 के सातवें मैच में बेंगलुरु की 6 रन से हार हो गई. बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम पर खेले गए मैच में विराट कोहली की कप्तानी वाली बेंगलुरु टीम को आखिरी गेंद पर 7 रनों की जरूरत थी. मुंबई के लसिथ मलिंगा ने गेंदबाजी करते हुए शिवम दुबे को बॉल डॉली और बल्लेबाज ने लॉन्ग ऑन शॉट खेला. पिच पर मौजूद दोनों बल्लेबाज रन नहीं दौड़े, लेकिन रीप्ले में बताया गया कि मलिंगा का पैर क्रीज से बाहर था यानी गेंदबाज ने नो बॉल (No Ball) फेंकी थी, लेकिन अंपायर एस.रवि ने इसपर ध्यान नहीं दिया और मुंबई को पहली जीत मिल गई. इस पर कप्तान विराट कोहली भड़क गए.

RCBvsMI: अंपायर के फैसले पर तमतमाए कोहली, कहा- 'हम IPL खेल रहे हैं, क्लब क्रिकेट नहीं'

मैच के बाद कोहली ने कहा, "हम आईपीएल में खेल रहे हैं न कि क्लब का कोई मैच. अंपायरों को अपनी आंखें खुली रखकर काम करना चाहिए. करीबी मैचों में अगर इस तरह के फैसले आते रहे तो मैं नहीं जानता कि क्या होगा. अंपायरों को अधिक सजग होना चाहिए था."

कोहली ने यह भी माना कि उनकी टीम के गेंदबाजों को मुंबई के खिलाफ अच्छी गेंदबाजी करनी चाहिए थी. कोहली ने कहा, "जब वह 145 पर सात विकेट खो चुके थे तब हम अच्छा कर सकते थे. आखिरी के कुछ ओवर हमारे लिए खतरनाक साबित हुए."  

शर्मा भी नाराज
अंपायर के फैसले से मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा भी नाराज दिखे. रोहित ने कहा, ''ईमानदारी से बताऊं तो मुझे बाद में पता चला कि यह एक नो-बॉल थी. इस तरह की गलतियां खेल के लिए अच्छी नहीं हैं. इससे पिछले ओवर में बुमराह ने एक गेंद फेंकी जो कि वाइड नहीं थी, लेकिन उसे वाइड कहा गया.''