ISSF: दिल्ली शूटिंग वर्ल्ड कप शुरू होने से महज एक दिन पहले ओलंपिक कोटा वापस लिया गया

भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ के अध्यक्ष रनिंदर सिंह ने कहा, ‘अभी कुछ रद्द नहीं हुआ है. आईओसी तथा सरकार इस पर नजर रखे हुए हैं.’

ISSF: दिल्ली शूटिंग वर्ल्ड कप शुरू होने से महज एक दिन पहले ओलंपिक कोटा वापस लिया गया

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में शुक्रवार (22 फरवरी) को शुरू हो रहे आईएसएसएफ शूटिंग वर्ल्ड कप (ISSF World Cup) में ओलंपिक कोटा नहीं होगा. आईएसएसएफ अध्यक्ष व्लादिमीर लिसिन ने गुरुवार को यह जानकारी दी. पहले कहा गया था कि भारत की मेजबानी में होने वाले इस वर्ल्ड कप में 16 ओलंपिक कोटा होंगे. ओलंपिक कोटा में आए इस यू-टर्न को पाकिस्तान के विरोध से जोड़ा जा रहा है. पाकिस्तान के शूटर विश्व कप में हिस्सा लेने के लिए नहीं आए हैं. पाकिस्तान का आरोप है कि उसके निशानेबाजों को वीजा नहीं दिया गया है. 

पाकिस्तान ने इस मामले को आईएसएसएफ के सामने उठाया था. पाकिस्तान राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएपी) ने इसके बाद पत्र लिखकर आईएसएसएफ से ओलंपिक कोटा  रद्द करने की अपील की थी. हालांकि, भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) ने इससे पहले दावा किया था कि विश्व कप में पाकिस्तानी निशानेबाजों के भाग लेने को लेकर कोई अड़चन नहीं है. 

यह भी पढ़ें: INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले भारत को झटका, हार्दिक पांड्या बाहर, इस खिलाड़ी को मिला मौका

आईएसएसएफ अध्यक्ष व्लादिमीरलिसिन ने गुरुवार को कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में विश्व कप शुरू होने से एक दिन पहले कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने हमें बताया कि इस विश्व कप से ओलंपिक कोटा तय नहीं होगा. ऐसे में ये कोटे दूसरे विश्व कप को दिए जाएंगे. हमें आईओसी परिवार का हिस्सा होने के नाते आईओसी के फैसले का सम्मान करना होगा.’ 

भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ के अध्यक्ष रनिंदर सिंह ने कहा कि वे अभी भी मामले के समाधान की तलाश में हैं. उन्होंने कहा, ‘अभी कुछ रद्द नहीं हुआ है. हमें कुछ पता नहीं है. हम इंतजार कर रहे हैं. बैठकें हो रही है और आईओसी तथा सरकार इस पर नजर रखे हुए हैं. हर कोई मेहनत कर रहा है. ऐसा पहले कभी नहीं हुआ और यह दुर्भाग्यपूर्ण है.’ 

व्लादिमीर लिसिन के बयान के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि इस पर स्पष्टीकरण जारी होगा. उन्होंने कहा, ‘उन्होंने यह नहीं कहा कि सभी 16 कोटा स्थान रद्द कर दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि कोटा देने में वह असमर्थ होंगे, लेकिन यह नहीं कहा कि वापस ले लिए गए हैं. इस पर सफाई ली जा सकती है.’ 

(भाषा)