X

घी News

alt
27 अक्टूबर को शरदपूर्णिमा है। इसे कोजागर पूर्णिमा भी कहते हैं। इस रात मां लक्ष्मी अपने भक्तों को खोजती हैं। इस दौरान जो लोग उन्हें निर्धन मिलते हैं, उनके घर को धन संपत्ति से भर देती हैं। शरदपूर्णिमा की रात दीवाली से भी ज्यादा अहम है, क्योंकि इस रात स्वयं मां लक्ष्मी अपने भक्तों को संपत्ति देने के लिये खोजती हैं। वैदिक और तंत्र शास्त्र में शरदपूर्णिमा की रात कुछ धन के उपाय के बारे में बताया गया है। धन संपत्ति पाने के इन सरल उपायों को शरदपूर्णिमा की रात करने से, लक्ष्मी का स्थायी आशीर्वाद मिलता है। आइये इस शरदपूर्णिमा से कार्तिक अमावस्या तक आप भी इन उपायों को आज़मायें और अपनी किस्मत चमकायें।
Oct 26,2015, 16:58 PM IST
alt
हर व्यक्ति लक्ष्मीजी को खोज रहा है। लेकिन कोजागर पूर्णिमा की रात, मां लक्ष्मी निर्धनों को खोजती हैं। कोजागर पूर्णिमा की रात को लक्ष्मी जी रात में निकलती हैं। जो भक्त उन्हें जागते हुए मिलते हैं, उन्हें धन देती हैं। जो लोग सोते हुए मिलते हैं, उनके घर को छोड़कर आगे बढ़ जाती हैं। तो अगर आप धनी होना चाहते हैं तो कोजागर पूर्णिमा की रात सोइयेगा नहीं, वरना सोने से हाथ धोना पड़ सकता है। कोजागर पूर्णिमा 27 अक्टूबर को है। 27 अक्टूबर की रात को, चंद्रमा की किरणों से अमृत बरसता है। इसीलिये कोजागर पूर्णिमा की रात, मां लक्ष्मी को चांदनी रात में रखी खीर का भोग लगाया जाता है। इस रात धन संबंधी उपाय करने से भी लक्ष्मी की अपार कृपा मिलती है।    
Oct 26,2015, 16:52 PM IST

Trending news