close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महारानी

जानें, कैसे कित्तूर की रानी चेन्नम्मा ने अंग्रेजों को दो-दो बार धूल चटाया

जब भारत में अंग्रेजों की ईस्ट इंडिया कंपनी ही अपना साम्राज्य फैला रही थी, इसी समय ईस्ट इंडिया कंपनी ने साम्राज्य विस्तार के लिए एक नई नीति हिन्दुस्तानी रियासतों पर थोप दी. ये नीति ही वो पहली चिंगारी थी जिसने हिंदुस्तानियों के दिल में आजादी का पहला ख्याल बोया था. ये थी डॉक्ट्रिन ऑफ लैप्स पॉलिसी और इसी पॉलिसी के तहत अंग्रेज कित्तूर को भी अपने साम्राज्य मिलाना चाहते है. देखना ना भूलें ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश 'महारानी' रविवार शाम 6:25 बजे...

Feb 2, 2019, 04:21 PM IST

जानें, उस रानी की कहानी जिसने रानी लक्ष्मीबाई से पहले अंग्रेजों से लोहा लिया

कित्तूर का किला आज खामोश है, वीरान है लेकिन आज से 194 साल पहले कित्तूर किले की दीवार से एक रानी ने अंग्रेजों के खिलाफ ऐसा हल्ला बोला था कि गोरों की ईंट से ईंट बज उठी थी. देखना ना भूलें ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश 'महारानी' रविवार शाम 6:25 बजे...

Jan 27, 2019, 05:14 PM IST

महारानी: जानें, किस कूटनीतिक चाल से अहिल्याबाई ने डाकुओं, लूटेरों और पिंडारियों को पस्त किया

अहिल्याबाई ने जब राजगद्दी संभाली तब राज्य में काफी अशांति थी. इस पठारी प्रदेश में जंगल काफी बड़े इलाके को नियंत्रित करता था और यही इलाका उस सबसे बड़े खतरे के लिए संजीवनी था, जो होल्कर राज्य के लिए सबसे बड़ी परेशानी था. ये थे लुटेरें, डाकू और पिंडारी. देखना ना भूलें ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश 'महारानी' रविवार शाम 6:25 बजे...

Jan 19, 2019, 10:14 PM IST

महारानी: अहिल्याबाई ने एक सैनिक को आपना दामाद क्यों बनाया ?

राघोबा को करारा जवाब मिल चुका था लेकिन एक दूसरी चुनौती अहिल्या के सामने खड़ी थी. ये थी राज्य में शांति की स्थापना करना, लुटेरे, डाकुओं और हत्या करके लूट करने वाले पिंडारियों से राज्य में अशांति फैली थी. व्यापारियों के साथ साथ अहिल्या बाई जानती थी कि इन डाकुओं और पिंडारियों का सामना शस्त्र से आसान नहीं है.इसलिए रानी से एक बार फिर दरबार में एक कूटनीतिक चाल चली. देखिए, 'महारानी' में कहानी अहिल्याबाई की...

Jan 10, 2019, 11:21 AM IST

महारानी: राघोबा को अहिल्याबाई से क्या डर था ?

ढाई सौ साल पहले इंदौर की गद्दी पर अब एक महिला शासन चला रही थी. होल्कर साम्राज्य की सीमा सुरक्षित रखने के साथ साथ अहिल्या बाई के सामने डाकू, लुटेरों और यात्रियों को लूट कर उनकी हत्या करने वाले पिंडारियों से प्रजा की सुरक्षा करना बड़ी चुनौती थी. देखिए, 'महारानी' में कहानी अहिल्याबाई की...

Jan 10, 2019, 11:14 AM IST

महारानी : कहानी अहिल्याबाई की जिन्होंने दुश्मनों के छक्के छुड़ा दिए

रूपवान-गुणवान अहिल्या ने राजघराने में बहू बनकर आते ही अपने व्यवहार और कार्यकुशलता से सबका दिल जीत लिया. सासु मां के सहयोग से उन्होंने घर की जिम्मेदारी संभाली तो श्वसुर के सहयोग से राजकाज की बारीकियों को समझना शुरू कर दिया. इस बीच अहिल्याबाई एक बेटे और एक बेटी की मां भी बन गईं. सबकुछ सही चल रहा था तभी अहिल्याबाई के जीवन पर वज्रपात हो गया. 1754 में सूरजमल जाट के साथ हुए एक युद्ध में अहिल्या के पति खाण्डेराव होल्कर वीरगति को प्राप्त हुए. देखिए, 'महारानी' में कहानी अहिल्याबाई की...

Jan 10, 2019, 10:49 AM IST

जब ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ बोलीं- ‘मैं अभी जिंदा हूं’

उत्तरी आयरलैंड की यात्रा के दौरान ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ से जब उनकी सेहत को लेकर सवाल पूछा गया तब महारानी ने बड़े चुटिले अंदाज में तपाक से जवाब दिया, ‘अभी मैं जिंदा हूं।’’ ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के पक्ष में मतदान के बाद महारानी की यह पहली सार्वजनिक उपस्थिति थी।

Jun 28, 2016, 11:37 AM IST

राजनयिक भूल करते हुए कैमरे में कैद हुईं महारानी एलिजाबेथ और डेविड कैमरन

ब्रिटिश राजशाही द्वारा दुर्लभ राजनयिक भूल के तहत महारानी एलिजाबेथ द्वितीय पिछले साल चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की ब्रिटेन की राजकीय यात्रा के दौरान चीन के अधिकारियों को ‘बहुत अशिष्ट’ कहते हुए कैमरे में कैद हो गईं तथा प्रधानमंत्री डेविड कैमरन भी नाइजीरिया और अफगानिस्तान को दुनिया के ‘सबसे भ्रष्ट’ देशों में शामिल कहते हुए नजर आए हैं।

मई 11, 2016, 10:37 PM IST

..जब चीनी अधिकारियों को 'अशिष्ट' कहते हुए कैमरे में कैद हुईं ब्रिटेन की महारानी

ब्रिटिश राजशाही द्वारा दुर्लभ राजनयिक भूल के तहत, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय पिछले साल चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की ब्रिटेन की राजकीय यात्रा के दौरान चीन के अधिकारियों को ‘बहुत अशिष्ट’ कहते हुए कैमरे में कैद हो गईं। एक आधिकारिक शाही कैमरामैन ने बकिंगघम पैलेस गार्डन पार्टी के दौरान उनकी टिप्पणियां रिकार्ड कीं जिन्हें आज प्रसारित किया गया।

मई 11, 2016, 05:24 PM IST

ब्रिटेन में मनाया गया महारानी का 90वां जन्म दिवस

ब्रिटेन में आज महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 90वां जन्मदिन तोप की सलामी और आतिशबाजी के साथ मनाया गया। प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने उन्हें ब्रिटेन और राष्ट्रमंडल के लिए ‘ताकत की चट्टान’ करार दिया। महारानी अपने जन्म दिन पर लंदन के बाहरी इलाके विंडसर कैसल स्थित अपने एक महल में हैं तथा दिन की शुरूआत उन्होंने इलाके में पैदल यात्रा से की। प्रधानमंत्री कैमरन ने महारानी को ‘ताकत की चट्टान’ की संज्ञा देते हुए उनको बधाई दी जबकि राजकुमार चार्ल्स ने अपनी मां के लिए विशेष बधाई संदेश रिकॉर्ड किया जिसमें वह विलियम शेक्सपीयर का कथन पढ़ते नजर आ रहे हैं। उनकी रिकॉर्डिंग का रेडियो पर प्रसारण किया गया।

Apr 21, 2016, 07:41 PM IST

प्यारा था महारानी संग काम करना : क्रेग

अभिनेता डेनियल क्रेग कहते हैं कि उनका ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ के साथ काम करना बहुत प्यारा रहा। क्रेग ने लंदन ओलम्पिक्स के शुभारंभ समारोह के लिए महारानी के साथ एक दृश्य फिल्माया था। उन्होंने कहा कि महारानी संग काम करना अद्भुत रहा और वह अवास्तविक सा प्रतीत हो रहा था।

Oct 24, 2012, 10:58 AM IST

महारानी को चाहिए ड्राइवर, 20 लाख वेतन

अगर आपका सपना महारानी के साथ उनके रॉल्स रॉयस में घूमने का है तो आपके पास अच्छा मौका है ।

Aug 16, 2012, 04:04 PM IST

महारानी ने की ओलंपिक मशाल की अगवानी

लंदन ओलंपिक की मशाल मंगलवार को विंडसर पैलेश पहुंची जहां महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने उसकी अगवानी की। मशाल के विंडसर पैलेश पहुंचने के कारण आज रिले का दिन घटनाप्रधान रहा।

Jul 11, 2012, 12:53 PM IST

भूटान नरेश और महारानी भारत पहुंचे

भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्येल वांगचुक और महारानी जेत्सुन पेमा वांगचुक नौ दिवसीय राजकीय यात्रा पर रविवार को यहां पहुंचीं।

Oct 23, 2011, 08:56 PM IST