close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

classical singer

छन्नूलाल मिश्र ने श्रीराम से की PM मोदी की तुलना, बोले- 'दुष्टों का नाश करने के लिए लिया अवतार'

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत के पुरोधा पंडित छन्नूलाल मिश्र ने पीएम मोदी के लिए बधाईयां गाईं.

मई 30, 2019, 11:34 AM IST

आज का इतिहास: आज है 'ठुमरी की रानी' की जयंती

ठुमरी की रानी 'गिरिजा देवी' का जन्म 8 मई 1929 को वाराणसी में हुआ था. ठुमरी, चैती, टप्पा, झूला, कजरी की महान गायिका. गिरिजा देवी को पद्म विभूषण और संगीत अकादमी अवार्ड से सम्मानित किया गया. देखिए, आज का इतिहास...

मई 8, 2019, 01:49 PM IST

आज का इतिहास: जब जन्में दार्शनिक या सूफियाना अंदाज़ वाले रागों के जादूगर

मुश्किल शास्त्रीय रागों के सबसे सहज गायक मन्ना डे का जन्म 1 मई 1919 को हुआ था. हिन्दी-बांग्ला सहित कई भाषाओं में 3000 गाने गाए. 5 दशकों में उनकी आवाज़ ने कई गीतों को अमर किया. देखिए, आज का इतिहास...

मई 1, 2019, 12:07 PM IST

आज का इतिहास: आज है महान शास्त्रीय गायक भीमसेन जोशी की जयंती

4 फरवरी 1922 को पंडित भीमसेन जोशी का कर्नाटक के गडग में जन्म हुआ था. इन्होंने प्रसिद्ध शास्त्रीय गीत 'मिले सुर मेरा तुम्हारा' को संगीत और आवाज़ दी. आज के इस विशेष रिपोर्ट में जानें उनसे जुड़ी और भी खास बातें...

Feb 4, 2019, 11:14 AM IST

.. तो आज शास्त्रीय गायक के बजाय तबलावादक होते पंडित जसराज

भारत के शास्त्रीय संगीत के मशहूर गायक पंडित जसराज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। लेकिन यह बात कम ही लोग जानते होंगे कि उन्होंने संगीत की दुनिया में बतौर तबलावादक कदम रखा था और एक अपमानजनक घटना के बाद तबला बजाना हमेशा के लिये छोड़ दिया था। ‘आइडिया जलसा कंसर्ट’ में प्रस्तुति के लिये यहां आये जसराज ने संवाददाताओं के सामने खुद इस रहस्य से परदा उठाया। उन्होंने कहा, ‘उस वक्त मैं 14 बरस का था। तब मुझे एक अपमानजनक घटना का सामना करना पड़ा था और मैं इस अपमान को सहन नहीं कर सका था।

Mar 10, 2016, 08:23 PM IST