yamuna prasad shastri

पुण्य स्मृति : अलग ही माटी के बने थे यमुना शास्त्री

शास्त्री जी की जरूरत विंध्य को ही नहीं, देश और दुनिया को भी रही है. उनके व्यक्तित्व व कृतित्व को किसी सीमा में नहीं बांधा जा सकता.

Jun 20, 2018, 11:36 AM IST