Russia Ukraine War: अमेरिका और पश्चिमी देशों पर बरसे पुतिन, कहा- 'पहले भारत को लूटा, अब रूस पर है नजर, लेकिन ऐसा होने नहीं देंगे'
topStorieshindi

Russia Ukraine War: अमेरिका और पश्चिमी देशों पर बरसे पुतिन, कहा- 'पहले भारत को लूटा, अब रूस पर है नजर, लेकिन ऐसा होने नहीं देंगे'

Russia Ukraine Crisis: पुतिन ने इस बात से भी इनकार किया कि रूस फिर से सोवियत संघ बनाने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने कहा, ‘हम अतीत को वापस नहीं ला सकते हैं और रूस को अब इसकी जरूरत नहीं है. सोवियत संघ के विघटन के बाद पश्चिमी देश चाहते थे कि हम खत्म हो जाएं, पर रूस फिर से खड़ा हुआ.’

Russia Ukraine War: अमेरिका और पश्चिमी देशों पर बरसे पुतिन, कहा- 'पहले भारत को लूटा, अब रूस पर है नजर, लेकिन ऐसा होने नहीं देंगे'

Russia Ukraine Conflict: रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा युद्ध और तनाव समय बीतने के साथ बढ़ता ही जा रहा है. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को यूक्रेन के चार इलाकों के रूस में विलय की आधिकारिक घोषणा की. इस दौरान उन्होंने देश में मिलाए गए नए इलाके के लोगों को भरोसा दिलाया कि अब आप रूस के नागरिक हैं और आपकी सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी है. राष्ट्र को संबोधित करते हुए एक बार फिर अमेरिका समेत अन्य पश्चिम देशों पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा, ‘पश्चिमी देशों ने पहले भारत को लूटा और अब उनकी नजर रूस पर है. पश्चिमी देश रूस के खिलाफ साजिश रच रहे हैं.’

'भारत की तरह हम पर है नजर'

रूसी राष्ट्रपति ने कहा, ‘वेस्टर्न कंट्रीज रूस को उपनिवेश बनाना चाहती है. उन्होंने जैसे भारत को लूटा है, वैसे ही रूस को भी लूटना चाहते हैं, लेकिन हमने खुद को कॉलोनी नहीं बनने दिया.’ पुतिन ने इस बात से भी इनकार किया कि रूस फिर से सोवियत संघ बनाने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने कहा, ‘हम अतीत को वापस नहीं ला सकते हैं और रूस को अब इसकी जरूरत नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘सोवियत संघ के विघटन के बाद पश्चिमी देश चाहते थे कि हम खत्म हो जाएं, लेकिन रूस फिर से खड़ा हुआ.’

डोनबास के लोग अब रूस के नागरिक

व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन के चार इलाकों (लुहांस्क, जापोरिज्जिया, खेरसन और दोनेत्स्क) के रूस में विलय पर भी बहुत कुछ बोले. उन्होंने कहा,  ‘डोनबास के लोग 8 साल तक नरसंहार, गोलाबारी और नाकाबंदी झेलते रहे, लेकिन अब उन्हें इससे आजादी मिल गई है. जनमत संग्रह के दौरान खेरसॉन और ज़ापोरोज़े में अधिकारियों ने चुनाव आयोगों में काम करने वाली महिला स्कूली शिक्षकों को निशाना बनाने की धमकी दी. मैं कीव के अफसरों और पश्चिम देशों में बैठे उनके आकाओं को बताना चाहता हूं कि अब डोनबास के लोग रूस के नागरिक बन रहे हैं. इनकी सुरक्षा अब हमारी जिम्मेदारी है.’ उन्होंने युद्ध में क्षतिग्रस्त हुए इन इलाकों के फिर से विकास का भी भरोसा दिलाया. पुतिन ने कहा ‘हम कीव शासन से तत्काल संघर्ष विराम, सभी शत्रुताओं को समाप्त करने का आह्वान करते हैं. हम इसके लिए तैयार हैं.’

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

Trending news