अफगानिस्तान में शांति के लिये अमेरिका और तालिबान फिर करेंगे वार्ता

कतर की राजधानी दोहा में पिछले महीने दोनों पक्षों के बीच हुई बातचीत में तालिबान ने यह वादा किया था कि वह अफगानिस्तान को अतंरराष्ट्रीय आतंकवादी समूहों की सुरक्षित पनाहगाह नहीं बनने देगा

अफगानिस्तान में शांति के लिये अमेरिका और तालिबान फिर करेंगे वार्ता
अमेरिका 2001 में तालिबान को सत्ता से बाहर करने के बाद उससे पहली बार इस तरह वार्ता कर रहा है

नई दिल्ली: अमेरिका और तालिबान अफगानिस्तान में 17 साल से जारी संघर्ष को समाप्त करने के लिये सोमवार को कतर में फिर से मुलाकात करेंगे.

कतर की राजधानी दोहा में पिछले महीने दोनों पक्षों के बीच हुई बातचीत में तालिबान ने यह वादा किया था कि वह अफगानिस्तान को अतंरराष्ट्रीय आतंकवादी समूहों की सुरक्षित पनाहगाह नहीं बनने देगा. तालिबान के इस वादे से अफगानिस्तान में शांति के लिये चल रही वार्ता में कामयाबी मिलने की उम्मीद बनी थी.

अमेरिका 2001 में तालिबान को सत्ता से बाहर करने के बाद उससे पहली बार इस तरह वार्ता कर रहा है. हालांकि अब तक अमेरिका की अफगानिस्तान से वापसी और संघर्षविराम को लेकर कोई समझौता नहीं हो पाया है.

किसी भी पक्ष ने न तो यह बताया है कि ये बातचीत कब तक चलने की उम्मीद है और न ही इस बात की जानकारी दी है कि इस बार किस पहलू पर चर्चा की जाएगी.

(इनपुट-भाषा)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.