• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 6,28,747 और अबतक कुल केस- 21,53,010: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 14,80,884 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 43,379 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 68.32% से बेहतर होकर 68.78% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 53,878 मरीज ठीक हुए
  • सरकार ने 500 करोड़ का आवंटन आत्म निर्भर अभियान के तहत मधुमक्खी पालन बढ़ाने के लिए किया
  • शहद का उत्पादन 242% बढ़ा और निर्यात 265% बढ़ा
  • 115 जिलों में एमएसएमई पदचिह्न बढ़ाने के लिए पहल
  • ₹50 करोड़ तक का सेक्टर निवेश और MSME की नई परिभाषा में 250 करोड़ तक का कारोबार
  • ₹50 करोड़ तक का सेक्टर निवेश और MSME की नई परिभाषा में 250 करोड़ तक का कारोबार
  • यह डिजिटल और आउटडोर इंस्टॉलेशन से सुसज्जित है, जो स्वछता पर जानकारी और शिक्षा प्रदान करता है
  • अगले पांच वर्षों में पीएलआई योजना के तहत ₹11.5 लाख करोड़ रुपये के मोबाइल फोन और इसके पुर्जे तैयार किए जाएंगे

विकास दुबे एनकाउंटर: पहले ही सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हो गयी थी याचिका, गहराया शक

देश में विकास दुबे के एनकाउंटर की हर तरफ चर्चा हो रही है. कानपुर में आठ पुलिसवालों की हत्या करने वाला गैंगस्टर विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था और आज पुलिस ने उसका एनकाउंटर कर दिया. सुप्रीम कोर्ट में विकास दुबे के एनकाउंटर की आशंका जताते हुए गुरुवार रात ही याचिका दाखिल कर दी गयी थी.

विकास दुबे एनकाउंटर: पहले ही सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हो गयी थी याचिका, गहराया शक

लखनऊ: कानपुर में पुलिस पर वीभत्स हमला करने वाला विकास दुबे मुठभेड़ में मारा गया. विकास को कल ही उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था. बड़ी बात ये है कि उसके एनकाउंटर का मामला गुरुवार रात ही सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया था और इस याचिका में विकास दुबे के एनकाउंटर की आशंका जताई गई थी. ये आशंका आज सुबह सही साबित हो गयी.

विकास दुबे के एनकाउंटर पर पुलिस ने कहा कि कानपुर ले जाते समय पुलिस की गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया और वो पलट गई. इसी दौरान विकास दुबे ने भागने की कोशिश की और पुलिस पर उसने हमला किया जिसमें पुलिस की जवाबी कार्रवाई में उसकी मौत हो गयी.

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा एनकाउंटर प्रकरण

 गौरतलब है कि विपक्ष के कई नेता एनकाउंटर पर सवाल खड़े कर रहे हैं और कह रहे हैं कि कई बड़े नेताओं और अधिकारियों को बचाने के लिए पुलिस ने ये एनकाउंटर कर दिया है. गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर के मामले में सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई है.

याचिका में यूपी पुलिस की भूमिका की जांच की मांग की गई है. हालांकि याचिका कल गुरुवार देर रात कोर्ट में दायर की गई जिसमें विकास दुबे का एनकाउंटर किए जाने की आशंका जताई की गई थी.

ये भी पढ़ें- बिकरू के विकास का बर्रा इलाके में कैसे हुआ अंत, जानिए पूरा घटनाक्रम

विकास दुबे को एनकाउंटर से बचाने की अपील की गई थी

सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करके विकास दुबे को एनकाउंटर से बचाने की कोशिश की गई थी. पुलिस पर याचिकाकर्ता को पहले से शक था. याचिकाकर्ता के वकील घनश्याम उपाध्याय का कहना है कि वो आज ही सुनवाई की मांग करेंगे. सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में विकास को एनकाउंटर से बचाने की मांग की गई थी.

उल्लेखनीय है कि विकास के घर, मॉल को ढहाने के मामले में FIR दर्ज करने और पूरे मामले की जांच CBI को सौंपने की भी मांग की गई है. आपको बता दें कि  हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे आज सुबह 7:15 बजे से 7:35 के बीच यूपी एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में मारा गया.