close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तो क्या सपना चौधरी को है दिल्ली से टिकट पाने की आस

पिछले दिनों भाजपा-कांग्रेस के बीच गेंद बनी रहीं सपना चौधरी एक बार फिर चर्चा में हैं.  कहा जा रहा है कि इस बार उन्होंने अपनी सदस्य पार्टी भाजपा को धोखा दिया है. दरअसल हरियाणा विधानसभा चुनाव में सपना ने निर्दलीय प्रत्याशी गोपाल कांडा के समर्थन में प्रचार का ऐलान किया था. उन्होंने इससे जुड़ा एक वीडियो भी अपलोड किया था.  हालांकि भाजपा की नाराजगी के बाद चुनाव प्रचार के अंतिम दिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.

तो क्या सपना चौधरी को है दिल्ली से टिकट पाने की आस

नई दिल्लीः  राजनीति क्या न करवा दे. अभी हाल में भाजपा में शामिल हुईं सपना चौधरी की राजनातिक महत्वकांक्षाएं अब जगने  लगी हैं. लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी की सदस्यता लेने वाली सपना शायद अब बड़े-बड़े सपने देखने लगी हैं और इसी के साथ अपनी नाराजगी और चेतावनी वाली अदाओं को पैना बनाने लगी हैं. पिछले दिनों उन्होंने एक विडियो जारी किया और भाजपा के विरोधी प्रत्याशी के चुनाव प्रचार का ऐलान कर दिया. हालांकि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की नाराजगी और समझाने 
के बाद उन्होंने अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया था.

...तो क्या नाराज हैं सपना
दरअसल हरियाणवी कलाकार को भाजपा में शामिल होने के बाद उम्मीद थी कि उन्हें हरियाणा का चेहरा बनाया जाएगा. हरियाणा विधानसभा चुनाव में उन्हें प्रत्याशी बनाए जाने की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.  सूत्रों के अनुसार इससे सपना
चौधरी को अपनी उम्मीद टूटती नजर आई तो उन्होंने सिरसा से निर्दलीय प्रत्याशी गोपाल कांडा का प्रचार करने का ऐलानिया विडियो जारी कर दिया. इस तरह उन्होंने दो निशाने साधे हैं. एक तो उन्होंने पार्टी में अपनी मजबूती साबित करने की 
कोशिश की है. साथ ही यह चेतावनी देने की कोशिश की है कि आने वाले दिनों में  दिल्ली विधानसभा चुनाव में उन्हें अनदेखा न किया जाए.

कयासः मनोज तिवारी ने दूर की नाराजगी 


सपना चौधरी का इस तरह का वीडियो सामने आने के बाद पार्टी हैरत में आ गई. भाजपा नेताओं ने जहां इस पर नाराजगी जताई वहीं उन्होंने इसे पार्टी लाइन के खिलाफ बताया. इस पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी भी नाराज हुए थे. हालांकि
पहले तो उन्होंने सपना को गोपाल कांडा के समर्थन में रैली से रोका और इसके बाद पार्टी आलाकमान के निर्देश पर उनकी नाराजगी को भी दूर करने की कोशिश की है. बताया जा रहा है कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने सपना को मना लिया है व उन्हें 
दिल्ली विधानसभा चुनाव में किसी जाट बहुल इलाके से प्रत्याशी बनाने का वादा किया है. तो इस आधार पर अगर सब ठीक रहा तो सपना दिल्ली चुनाव में वोट मांगती और चुनाव प्रचार करती हुई नजर आ सकती हैं.

कौन हैं गोपाल कांडा
गोपाल कांडा सिरसा से हरियाणा लोकहित पार्टी से प्रत्याशी हैं. हरियाणा की राजनीति में चर्चित नाम रहे हैं और मंत्री भी रह चुके हैं. कांडा का नाम चर्चा में तब आया था जब उनकी विमानन कंपनी की एक महिला कर्मी ने खुदकुशी कर ली थी.
तय कार्यक्रम के मुताबिक सपना चौधरी व सिंगर मीका सिंह दोनों ही गोपाल के लिए प्रचार करने वाले थे, लेकिन भाजपा की ओर से कार्यक्रम रद्द होने के बाद मिका सिंह अकेले ही प्रचार के लिए पहुंचे थे.