अदाकारा पायल रोहतगी को निजी मुचलके पर जमानत मिली, केस अब भी बरकरार

फिल्म अदाकारा पायल रोहतगी को अपर न्यायालय ने जमानत दे दी है. लेकिन विवादास्पद टिप्पणी देने का मामला अभी उनपर से टला नहीं है. निजी मुचलके के बाद मिली जमानत के बाद अभिनेत्री के समर्थक काफी खुश दिखे.  

अदाकारा पायल रोहतगी को निजी मुचलके पर जमानत मिली, केस अब भी बरकरार

जयपुर: राजस्थान में अभिनेत्री पायल रोहतगी को आखिरकार विवादास्पद टिप्पणी के मामले में कोर्ट से राहत मिली है. राजस्थान के बूंदी कोर्ट में चल रहे मामले में लोअर न्यायालय ने उन्हें सजा सुना दी थी. अब अपर न्यायालय ने उन्हें जमानत दे दी है. अपर न्यायलय में मामले को लेकर पहुंचे पायल रोहतगी के वकील ने दलीलें दी कि उन्हें जमानत दी जाए. अदालत ने सब कुछ सुनने के बाद उन्हें 25 हजार के निजी मुचलके के बाद जमानत दे दी. 

पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू पर विवादास्पद बयान दे कर फंस गईं थीं पायल

अभिनेत्री पर दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री ज्वाहरलाल नेहरू के लिए विवादास्पद बयान देने का मामला दर्ज किया गया था. बूंदी के ACJM कोर्ट ने पिछले दिनों उनकी जमानत याचिका को खारिज कर उन्हें दोषी पाया था. इसके बाद उनके अधिवक्ता ने मामले से संबंधित वेल एप्लिकेशन मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सम्मुख दायर कर दिया. आज उस पर सुनवाई हुई और अदाकारा को आखिरकार राहत मिली. 

जेल की सजा मिली थी तब समर्थक बाहर कर रहे थे नारेबाजी

अभिनेत्री पायल रोहतगी को नेहरु और गांधी परिवार पर की गई टिप्पणी ने सलाखों तक पहुँचा दिया. अभिनेत्री की नेहरु परिवार पर टिप्पणी उन्हें ऐसी भारी पढ़ी कि अहमदाबाद से गिरफ्तार हुई एक्ट्रेस पायल को बूंदी जेल तक का सफर तय करना पड़ा. बूंदी पुलिस विवादित टिप्पणी के मामले में पायल को लेकर अहमदाबाद से बूंदी पहुंची थीं.

बूंदी के एसीजेएम न्यायालय में पायल की पेशी के बाद जब फैसला सुनाया गया और अदाकारा बाहर आईं तो उन्हें न्यायालय के बाहर भारी भीड़ का सामना करना पड़ा जो नारेबाजी कर रहे थे. हर कोई इस हाईप्रोफ़ाइल केस के नतीजे को जानना चाहता था.

करीब 45 मिनट तक कोर्ट में जिरह के बाद फैसला पायल की उम्मीद से परे आया. उनकी जमानत याचिका खारिज होने के साथ ही उन्हें 24 दिसम्बर तक जेल में भेजने का फैसला सुनाया गया.

अदाकारा पायल के केस को डील कर रहे अधिवक्ता ने इस मामले को अब अपर न्यायालय ले जाने की तैयारी की और अंत में किसी तरह से उन्हें जमानत देने को अदालत को राजी करा लिया.