प्रधानमंत्री के नाम पर बेवजह बना रहे डर का माहौलः रवि किशन

एक मीडिया कार्यक्रम में पहुंचे गोरखपुर से सांसद रवि किशन ने कहा कि नागरिकता कानून को कई लोग समझ नहीं पा रहे हैं. इस बिल से देश के लोगों का कोई लेना-देना नहीं है, जो लोग पीड़ित हैं, नागरिकता चाहते हैं, ये कानून उनके लिए है.

प्रधानमंत्री के नाम पर बेवजह बना रहे डर का माहौलः रवि किशन

नई दिल्लीः गोरखपुर से सांसद रवि किशन एक मीडिया कार्यक्रम में पहुंचे और जामिया में हुए हिंसक प्रदर्शन को गलत बताया. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में शांति से सबकुछ हो सकता है. आप शांति से प्रदर्शन करिए, लेकिन तोड़फोड़ करेंगे तो वो गलत है. मुझे पता चला था कि जामिया में बाहरी लोग अंदर घुसे थे, जिसका फायदा तीसरे लोग ले रहे हैं. बाहरी लोग द्वारा ही बच्चों को भड़काया जा रहा है. स्टूडेंट्स को पता ही नहीं है कि वो विरोध क्यों कर रहे हैं.

लोग नहीं समझ पा रहे कानून
उन्होंने कहा कि नागरिकता कानून को कई लोग समझ नहीं पा रहे हैं. इस बिल से देश के लोगों का कोई लेना-देना नहीं है, जो लोग पीड़ित हैं, नागरिकता चाहते हैं, ये कानून उनके लिए है. आप हिंदू राष्ट्र का समर्थन क्यों करते हैं? इस पर रवि किशन ने कहा कि मैं इतिहास का छात्र हूं. इस देश में हिंदू थे. मैं एक पुजारी का बेटा हूं. यहां पूरी बिरादरी हिंदू थी. इसाई, यहूदी सबका अपना-अपना देश है.

जामिया हिंसा पर पुलिस का बयान कहा हमने नहीं चलाई गोली, कई जवान भी हुए हैं घायल

कहां-कौन भड़का रहा है?
2014 से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने के बाद न कोई हिंदू-मुस्लिम में दंगा हुआ और न किसी मुसलमान की संपत्ति ली गई. फिर कहां-कौन इस समुदाय को भड़का रहा है कि मोदी जी आने वाले हैं. मोदी जी आ रहे हैं, मोदी जी आ रहे हैं और आप सुरक्षित नहीं हो. सभी लोग मस्त हैं. सब जगह बम-बम है. आखिर क्यों मोदी जी के नाम पर इन्हें डराया जा रहा है. यह समुदाय क्यों मोदी जी के नाम पर डरेगा. कोई सबूत लाकर बताए कि मोदी जी की वजह से खतरा है. रवि किशन ने कहा बिल बिना पढ़े ही अफवाह फैला दी गई है. मैं कहना चाहता हूं कि इस देश में किसी मुसलमान को कोई खतरा नहीं है.

गंभीर बोले- छात्रों की पिटाई दुखद
इधर, नागरिकता कानून और एनआरसी पर गौतम गंभीर ने कहा कि भगवा भी मेरा, हरा भी मेरा. पीएम ने बोला है 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास'. इस बिल को लेकर जो फैलाया जा रहा है वो गलत है. यह सिटिजनशिप देने का बिल है ना की लेने का, लेकिन जो लोग ये फैला रहे हैं कि ये बिल एंटी मुस्लिम है तो वो गलत है. जामिया मामले में गंभीर ने कहा कि शांतिपूर्ण प्रोटेस्ट करेंगे तो सरकार की जिम्मेदारी है कि उस मुद्दे का समाधान निकाले. छात्रों की पिटाई की बात पर गंभीर ने कहा कि ये दुखद है, लेकिन प्रोटेस्ट शांतिपूर्ण ढंग से होना चाहिए. अगर आप पत्थर फेकेंगे तो पुलिस कार्रवाई करेगी.\

बैंक के अति सुरक्षित लॉकर से गायब हुए 30 लाख के जेवरात