• पूरी दुनिया में कोरोना से 1140570 लोग प्रभावित, अब तक 61181 लोगों की मौत हुई,236528 लोग रोगमुक्त हुए
  • भारत में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 3072, इसमें से 75 लोगों की मौत हुई, 212 इलाज के बाद ठीक हुए
  • महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा 490 मरीज, 24 लोगों की मौत हुई, 42 लोग ठीक हुए
  • तमिलनाडु में कोरोना से 411 लोग प्रभावित, 2 की मौत, 6 लोग ठीक हुए
  • केरल में अब तक 295 लोगों को हुआ कोरोना, 2 की मौत हो चुकी है, 41 इलाज के बाद ठीक हुए
  • दिल्ली में कोरोना के 445 मरीज, 6 की मौत, 15 लोग ठीक हुए, मध्य प्रदेश में कोरोना से 155 लोग संक्रमित, 9 लोगों की मौत
  • यूपी में कोरोना के 174 मरीज, 19 लोग ठीक हुए, 2 लोगों की मौत
  • राजस्थान में कोरोना के 200 मरीज, 21 लोग इलाज के बाद ठीक हुए, अभी तक एक भी मौत नहीं
  • तेलंगाना में कोरोना के 158 मरीज, 7 लोगों की मौत, मात्र 1 ही इलाज के बाद ठीक हुआ
  • कर्नाटक में कोरोना के 128 मरीज और आंध्र प्रदेश में 161 लोगों में कोरोना वायरस का असर

बिहार: प्रशांत किशोर पर बोले राम विलास पासवान, 'उनके बारे में ज्यादा नहीं जानता'

बिहार में इस साल विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं. बिहार की राजनीति में हलचल तब से तेज है जब से नीतीश कुमार ने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर को जदयू से बाहर किया है.

बिहार: प्रशांत किशोर पर बोले राम विलास पासवान, 'उनके बारे में ज्यादा नहीं जानता'

पटना: जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) से बर्खास्त किए जाने के बाद प्रशांत किशोर फिलहाल बिहार के सभी गैर एनडीए दलों को एक मंच पर लाने में लगे हुए हैं. उनकी कोशिश है कि बिहार में नीतीश कुमार और भाजपा को हराने के लिये सभी विरोधी दलों को एक करके अपने अपमान का बदला लिया जाए. इसी पर जब केंद्रीय मंत्री और लोजपा नेता रामविलास पासवान से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा 'मुझे प्रशांत किशोर के बारे में जानकारी नहीं है.'

प्रशांत किशोर को नहीं जानते पासवान

जब रामविलास पासवान से बिहार में चुनाव के मद्देनज़र प्रशांत किशोर की ओर से चलाए जा रहे अभियान के बारे में पूछा गया, तब उन्होंने ये बात कही. पासवान ने कहा कि वो मीडिया में ही प्रशांत किशोर के बारे में सुनते और पढ़ते हैं लेकिन उनके बारे में कुछ नहीं जानते. उन्होंने ये भी कहा कि कुछ सालों पहले तक तो उन्होंने प्रशांत किशोर के बारे में सुना भी नहीं था.

'बात बिहार की' नाम का कार्यक्रम शुरू किया

प्रशांत किशोर ने मंगलवार को बिहार को बदलने की बात कहते हुए 'बात बिहार की' इस कार्यक्रम के 20 फरवरी से शुरू करने की बात कही थी जो गुरुवार को शुरू हो गया है. पहले ही दिन काफी संख्या में बिहार के विभिन्न जिलों में लोगों ने कार्यक्रम से जुड़ने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन कराया. उन्होंने कहा कि ये कार्यक्रम उन लोगों के लिए है जो बिहार को देश के शीर्ष 10 राज्यों में देखना चाहते हैं.

जदयू से हो चुके हैं निष्कासित

कुछ ही दिनों पहले प्रशांत किशोर को जेडीयू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी पार्टी जेडीयू से बर्खाश्त कर चुके हैं. नागरिकता कानून और एनआरसी के मुद्दे पर प्रशांत किशोर लगातार नीतीश कुमार पर बीजेपी का पिछलग्गू होने का आरोप लगाकर हमला कर रहे थे.

अब नीतीश सरकार की कर रहे आलोचना

कुछ हफ्तों पहले तक जदयू के उपाध्यक्ष रहे प्रशांत किशोर अब पार्टी से बाहर किये जा चुके हैं तो उन्हें नीतीश कुमार में कमियां भी दिखने लगीं. उन्होंने नीतीश सरकार के 15 साल के शासनकाल की कमियां बतायीं. उन्होंने कहा कि सत्ता के लिये नीतीश कुमार गोडसे के समर्थकों के साथ खड़े हैं. नीतीश को कुर्सी मुबारक हो.

ये भी पढ़ें- मस्जिद के लिये सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने कबूल कर ली 5 एकड़ जमीन