दिल्ली में प्रदर्शनकारियों की हिंसा से पुलिस अधिकारी घायल

दिल्ली में नागरिकता विरोधी आंदोलन में पुलिसकर्मियों पर हमला भी होने लगा है   

दिल्ली में प्रदर्शनकारियों की हिंसा से पुलिस अधिकारी घायल

नई दिल्ली. नागरिकता विरोधी क़ानून में हिंसा अब धीरे धीरे आम बात होती जा रही है. राजधानी दिल्ली के सीमापुरी इलाके में पुलिस पर हुए हमले से एक DCP घायल हो गए हैं और कई पुलिसकर्मियों को हलकी चोटें आई हैं.

तोड़फोड़ के बाद अब पुलिस पर हमला 

इधर कुछ दिनों से देश भर से नागरिकता क़ानून विरोधी आंदोलन के हिंसक होने की खबरें आ रही है लेकिन अब इस हिंसा ने आगे बढ़ कर पुलिस पर हमला करने का रुख भी इख्तियार कर लिया है. प्रदर्शनकारियों की भीड़ की यह बदमिजाजी ज़ाहिर करती है कि ये भीड़ प्रदर्शनकारियों की नहीं है बल्कि देश विरोधी तत्व इसमें बड़ी संख्या में शामिल हैं. 

दिल्ली की सीमापुरी में हुई घटना 

दिल्ली में आज कई जगह प्रदर्शन देखे गए. लेकिन सीलमपुर के आगे सीमापुरी में हालत बेकाबू सी नज़र आई.उपद्रवियों की भीड़ ने सीमापुरी इलाके हिंसक प्रदर्शन किया. लोगों द्वारा की गई पत्थरबाजी में पुलिसकर्मियों को चोट पहुंची और डीसीपी राजबीर सिंह घायल हो गए.

दिल्ली में 17 मेट्रो स्टेशन बंद किये गए 

प्रदर्शन के उग्र रूप को ध्यान में रख कर दिल्ली में 15 मेट्रो स्टेशनों में आवाजाही बंद कर दी गई है. इन मेट्रो स्टेशनों में चावड़ी बाजार, लाल किला, जामा मस्जिद, दिल्ली गेट, जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, दिलशाद गार्डन, शिव विहार, जौहरी एंक्लेव, राजीव चौक, प्रगति मैदान, खान मार्केट, जनपथ और मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन शामिल हैं. 

दिल्ली में कई स्थानों पर प्रदर्शन 

दिल्ली में आज शाम तक वैेसे तो कई स्थानों पर प्रदर्शन हुए किन्तु तीन जगहों पर बड़े प्रदर्शन देखे गए. इन जगहों में  जामा मस्जिद, सीलमपुर और जामिया नगर शामिल है. हैरानी और राहत की बात ये रही कि इन सभी स्थानों पर प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से चलता हुआ देखा गया. आज आधे दिन के बाद से प्रदर्शनों के कारण चावड़ी बाजार, लाल किला, जामा मस्जिद, दिल्ली गेट, जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, जामिया मिल्लिया इस्लामिया मेट्रो स्टेशन - ये सात मेट्रो स्टेशन और भी बंद कर दिए गए हैं.