सीलमपुर हिंसा मामले में 6 लोग गिरफ्तार, पुलिस ने दर्ज की दो FIR

दिल्ली के सीलमपुर में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस ने आगजनी और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में ये मामले दर्ज किए हैं.   

सीलमपुर हिंसा मामले में 6 लोग गिरफ्तार, पुलिस ने दर्ज की दो FIR

नई दिल्ली: सीलमपुर में मंगलवार को दंगा भड़काने और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पुहंचाने के मामले में छह लोग गिरफ्तार किए गए हैं. पुलिस ने इसी मामले में पहले 5 लोगों को हिरासत में भी लिया था. जिसके बाद अब सूचना आ रही है कि 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. 

कुछ इस तरह दंगाईयों ने भड़काई हिंसा

केन्द्र सरकार के नए नागरिकता संशोधन कानून के विरोध की आड़ लेकर राजधानी के सीलमपुर-जाफराबाद इलाके में उपद्रवियों भारी हंगामा मचाया था. प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की कई बसों में जमकर तोड़फोड़ की थी. यही नहीं दंगाइयों ने जाफराबाद इलाके में पुलिस की वैन में आग भी लगा दी थी. 

माहौल इतना बिगड़ गया था कि हालात को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े. इस घटना के बाद पूरे इलाके में तनाव फैल गया था. पुलिस ने इसी घटना के आधार पर कार्रवाई की है. 

कुछ ऐसा था मंगलवार का माहौल-

मेट्रो के दरवाजे करने पड़े बंद

सीलमपुर इलाके में बसों में तोड़फोड़ के साथ ही प्रदर्शनकारियों ने पुलिस बलों पर जमकर रोड़े और पत्थर भी चलाए. इलाके में तनाव बढ़ता देखकर 3 मेट्रो स्टेशनों वेलकम, जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर के गेट बंद करने पड़े. दंगाई सीलमपुर से ही इकट्ठा हुए थे. जो कि जाफराबाद की तरफ मार्च कर रहे थे. जाफराबाद इलाके में पहुंचकर दंगाईयों ने हिंसा भड़कानी शुरु कर दी थी. 

कई घंटो तक जारी रहा बवाल
सीलमपुर में करीब कई घंटों तक दंगाईयों का हंगामा चलता ही रहा.  इस पूरे हंगामे की शुरुआत दोपहर 1 बजे से हुई. पहले तो प्रदर्शनकारी नए नागरिकता कानून को हटाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे. लेकिन देखते देखते भीड़ में शामिल उपद्रवियों ने बवाल शुरु कर दिया और पथराव-आगजनी पर उतर आए. 

पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार किए गए 6 लोगों के बैकग्राउंड की भी छानबीन शुरु कर दी है. इसके पहले जामिया इलाके में भड़काई गई हिंसा में भी कई अपराधियों के शामिल होने की बात सामने आई थी. 

दिल्ली पुलिस ने बृजपुरी इलाके में हुई पत्थरबाजी के मामले में भी एक एफआईआर दर्ज की है. 

ये भी पढ़ें- कुछ इस तरह भड़की थी हिंसा

ये भी पढ़ें- नागरिकता कानून के बहाने भड़काई थी हिंसा