ममता दीदी ने कांग्रेस की मेहनत पर ऐसे फेरा पानी, राहुल-सोनिया को पीछे छोड़ दिया!

क्या ममता बनर्जी का 4 दिनों का दिल्ली दौरा राहुल गांधी के 7 सालों की मेहनत पर पानी फेर गया. ये सवाल क्यों कि कल तक जो राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सीधे टक्कर देते दिख रहे थे. आज ममता बनर्जी राहुल गांधी से 4 कदम आगे निकल गईं. अपने 4 दिनों के दौरे में ममता बनर्जी ने ऐसा माहौल बनाया कि सारे विपक्षी दल अब उनके पीछे खड़े दिख रहे हैं. सवाल ये है कि क्या कांग्रेस 2024 के लिए ममता की दावेदारी कबूल करेगी.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 30, 2021, 01:01 AM IST
  • मिशन 2024 की तैयारी
  • दिल्ली पर दीदी की नजर
ममता दीदी ने कांग्रेस की मेहनत पर ऐसे फेरा पानी, राहुल-सोनिया को पीछे छोड़ दिया!

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से ममता बनर्जी की मुलाकात की ये एक तस्वीर आज सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. इसमें ममता बनर्जी सोनिया गांधी के घर से निकल रही हैं और सोनिया और राहुल पीछे खड़े उन्हें देख रहे हैं.

ममता ने राहुल को पीछे छोड़ दिया?

इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए लोग अलग- अलग बातें लिख रहे हैं. एक महिला लिखती हैं, राहुल गांधी अच्छे व्यक्ति हैं. लेकिन वो अच्छे नेता नहीं है. उनका बॉडी लैंग्वेज कमजोर है.

लेकिन राहुल के बॉडी लैंग्वेज से ज्यादा ममता के बॉडी लैंग्वेज पर गौर करने की जरूरत है. 4 दिनों की दिल्ली यात्रा में ममता बनर्जी ने वो हासिल कर लिया. जो अब तक मोदी के विरोध में किसी नेता ने हासिल नहीं किया था. पहली बार कल ममता बनर्जी ने खुले तौर पर 2024 में मोदी विरोधी चेहरे की बात कही. ममता बनर्जी ने अपना नाम नहीं लिया लेकिन ये कह दिया कि सबको साथ आना होगा.

दीदी के लिए दिल्ली अब और कितनी दूर?

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने  बुधवार को कहा था कि 'it was a positive meeting... भाजपा को हारने के लिए सबको एक होना जरूरी है.'

ममता बनर्जी खुद तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चेहरा बनने की बात तो नहीं कर रही हैं, लेकिन उनकी पार्टी के नेता ये कहने से नहीं चूक रहे हैं कि जब नरेंद्र मोदी एक राज्य के मुख्यमंत्री होकर प्रधानमंत्री बन सकते हैं तो ममता बनर्जी 3 बार बंगाल में जीतने के बाद प्रधानमंत्री पद की दावेदार क्यों नहीं हो सकती हैं.

ममता बनर्जी की ये महत्वकांक्षा तब ही पूरी हो सकती है, जब कांग्रेस समेत पूरा विपक्ष एकजुट होकर उनके पीछे खड़ा हो जाए और इसीलिए ममता बनर्जी अपने इस दौरे में विपक्षी नेताओं से खूब मिल रही है.

क्या ममता के नाम पर विपक्ष राजी?

इसलिए कल सोनिया गांधी के अलावा ममता बनर्जी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलीं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ, आनंद शर्मा और अभिषेक मनु सिंघवी से भी उन्होंने अलग से मुलाकात की. इतना ही नहीं ममता बनर्जी ने शरद पवार और शिवसेना नेता संजय राउत से भी मुलाकात की.

इसके अलावा ममता बनर्जी एक चाय पार्टी में भी शामिल हुईं. इस चाय पार्टी में कई पत्रकार भी मौजूद थे. यहां ममता बनर्जी ने आधिकारिक रूप से तो 2024 की दावेदारी पर कुछ नहीं कहा, लेकिन संकेतों में ये जरूर कह दिया कि ये वक्त आने पर तय होगा.

हांलाकि बीजेपी कह रही है कि ममता बनर्जी बंगाल संभाल लें, तो बड़ी बात होगी. 2024 में नरेंद्र मोदी के मुकाबले कौन होगा ये तो तब ही तय होगा. लेकिन सोनिया से ममता की मुलाकात की जो तस्वीरें सामने आईं हैं. उससे ये तय है कि ममता बनर्जी राहुल गांधी से 4 कदम आगे निकल चुकी हैं.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़