निखत जरीन ने लगाया मेरी कॉम के खिलाफ अभद्र व्यवहार का आरोप

23 साल की निखत ने कहा, ‘उन्होंने जिस तरह से मुझसे व्यवहार किया मुझे वो पसंद नहीं आया. जब फैसला आया तो मैंने उन्हें गले लगाना चाहा, लेकिन उन्होंने मुझे गले नहीं लगाया. एक जूनियर होने के नाते मैं उम्मीद करती हूं कि सीनियर भी हमारा सम्मान करें, लेकिन उन्होंने मुझे गले नहीं लगाया. मुझे बुरा लगा लेकिन ठीक है.

निखत जरीन ने लगाया मेरी कॉम के खिलाफ अभद्र व्यवहार का आरोप

नई दिल्लीः निखत जरीन ने शनिवार को कहा कि वह ओलिंपिक क्वॉलिफायर ट्रायल्स के फाइनल मैच के बाद दिग्गज मुक्केबाज मेरी कॉम के व्यवहार से खुश नहीं हैं. मेरी कॉम ने महिलाओं के 51 किलोग्राम भारवर्ग के मुकाबले में निखत को 9-1 से हरा दिया. अब मेरी कॉम चीन में होने वाले ओलिंपिक क्वॉलिफायर में खेलेंगी. मैच के बाद जब फैसला सुनाया गया तब निखत ने मेरी कॉम के लिए तालियां बजाईं और जब दोनों पास आईं तो मेरी ने निखत से हाथ मिलाने से मना कर दिया.

23 साल की निखत ने कहा, ‘उन्होंने जिस तरह से मुझसे व्यवहार किया मुझे वो पसंद नहीं आया. जब फैसला आया तो मैंने उन्हें गले लगाना चाहा, लेकिन उन्होंने मुझे गले नहीं लगाया. एक जूनियर होने के नाते मैं उम्मीद करती हूं कि सीनियर भी हमारा सम्मान करें, लेकिन उन्होंने मुझे गले नहीं लगाया. मुझे बुरा लगा लेकिन ठीक है.

मेरी ने किया अपशब्दों का इस्तेमाल
मैच के बाद ऐसा प्रतीत हुआ था कि मेरी कॉम ने निखत से अपशब्दों का प्रयोग किया है. निखत ने इस बात की पुष्टि की. उन्होंने कहा, ‘हां, रिंग में उन्होंने मेरे खिलाफ कुछ गलत शब्दों का प्रयोग किया. मैं उस पर अभी टिप्पणी नहीं करना चाहती. निखत ने साथ ही कहा कि वह 9-1 की स्कोरलाइन से खुश नहीं हैं, क्योंकि मुकाबला काफी करीबी था. उन्होंने कहा कि वह आखिरी बार मेरी कॉम के खिलाफ इंडिया ओपन-2019 में खेलीं थी और उसकी तुलना में उनका इस बार का प्रदर्शन अच्छा था.

परिणाम करीबी था, पर स्कोर 9-1 नहीं होना चाहिए था
उन्होंने कहा, ‘मैं कहीं भी पीछे नहीं थी. मैंने इंडिया ओपन में जिस तरह का प्रदर्शन किया था इस बार उससे बेहतर किया. आज मैंने पूरा दम से खेला. मैं स्कोर से खुश नहीं हूं. यह करीबी मुकाबला था और परिणाम किसी भी तरफ जा सकता था इसलिए मुझे लगता है कि स्कोर 9-1 नहीं होना चाहिए था. तेलंगाना मुक्केबाजी संघ ने मैच के बाद विरोध प्रदर्शन भी किया और कहा कि वह इसके खिलाफ तेलंगाना खेल मंत्रालय के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) में शिकायत भी करेंगे.

मेरी कॉम ने ये कहा
दूसरी ओर, जब मीडिया ने मेरी कॉम से उनके इस व्यवहार पर सवाल किए तो उन्होंने कहा, 'मुझे उससे हाथ क्यों मिलाना चाहिए? अगर वह दूसरों से सम्मान की अपेक्षा रखती है तो उसे पहले दूसरो का सम्मान करना चाहिए. मैं ऐसे व्यवहार वाले लोगों को पसंद नहीं करती. मेरी कॉम निखत को नसीहत देते हुए आगे कहा, 'अगर कुछ साबित ही करना है तो रिंग के भीतर साबित करो, रिंग से बाहर नहीं. 

चिदंबरम की विपिन रावत को नसीहतः आप लड़िए, राजनीति में मत पड़िए