close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हनीट्रैप: वीडियो कॉल पर अश्लील डांस देखकर फंस गया सेना का जवान!

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की एक महिला एजेंट ने वीडियो कॉल पर अश्लील डांस दिखाकर सेना के एक जवान को हनीट्रैप के जाल में फंसा दिया. जिसे राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

हनीट्रैप: वीडियो कॉल पर अश्लील डांस देखकर फंस गया सेना का जवान!

जयपुर: पाकिसतान की खुफिया एजेंसी ISI की एक महिला एजेंट ने भारतीय सेना के जवान को अपने जाल में फंसा कर उससे सैन्य जानकारी हासिल की. दरअसल, ISI की महिला एजेंट ने सेना के जवान को वीडियो कॉल पर अश्लील डांस दिखाया करती थी. हनी ट्रैप में फंसे दो जवानों का मामला सामने आने के बाद हर कोई हैरान है.

जानकारी के बदले मिलते थे पैसे

पाकिस्तान बार-बार अपने पैंतरे आजमा कर भारत में नई-नई साजिश को अंजाम देने का काम करता आ रहा है. इस बीच उसकी एक बड़ी चाल का भांडाफोड़ हुआ है. जानकारी के मुताबिक एक पाकिस्तानी महिला ISI एजेंट ने पहले तो भारतीय सेना के जवान से सोशल मीडिया के जरिए संपर्क साधा. उसके बाद उससे बातचीत का दायरा बढ़ाया. इतना ही नहीं वो जवान को अपने जाल में फंसाने के लिए वीडियो कॉल करती थी और उससे हथियारों समेत अन्य सैन्य जानकारी हासिल करती थी. इसके बदले वो उसके दोस्त के अकाउंट में पैसे भी भेजवाया करती थी.

एक जवान को पूछताछ के बाद छोड़ा

इस मामले में राजस्थान के जैसलमेर में पुलिस ने आरोपी जवान विचित् बेहरा को गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक इस मामले में पुलिस ने एक और जवान रवि वर्मा को भी हिरासत में लिया था. लेकिन लांस नायक रवि वर्मा की मामले में भूमिका स्पष्ट नहीं हुई, और फिर पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया.

पूछताछ में हुए कई खुलासे

आरोपी जवान विचित्र बेहरा ने पुलिसिया पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे किए. जानकारी के अनुसार ये जवान पाकिस्तान की महिला एजेंट के संपर्क में बीते दो सालों से था. जो उसे फेसबुक और व्हाट्सऐप के जरिए वीडियो कॉल भी करती थी. जवान ने पूछताछ में ये बात कबूल किया कि इस वीडियो कॉल में वो एजेंट इसे अश्लील डांस करके दिखाती थी. इतना ही नहीं उसके दोस्त के अकाउंट में रकम भी भेजवाती थी. जिसके बदले विचित्र उसे सैन्य जानकारी मुहैया करता था औ मूवमेंट की जानकारी भी लीक करता था.

इसे भी पढ़ें: करतारपुर पर जारी पाकिस्तानी वीडियो से एक नई साजिश की पोल खुली

इस पूरे प्रकरण और कार्रवाई की जानकारी इंटेलिजेंस ADG उमेश मिश्रा ने दी. फिलहाल पुलिस आगे की प्रक्रिया में जुटी हुई है. ये कोई पहला मामला नहीं है जब पाकिस्तान की किसी महिला एजेंट ने जवानों को फंसाने का हनीट्रैप का जाल बुना हो. इससे पहले इंडियन एयरफोर्स और राजस्थान के ही एक अन्य सेना के जवान के फंसना का भी मामला सामने आया था.