सिंगल डोज वैक्सीन भी जल्द आ सकती है भारत, कोरोना की तीसरी लहर में होगी 'संजीवनी'

रूस की स्पुतनिक कंपनी कोरोना वैक्सीन का एक नया टीका लेकर आ गई है. इसकी एक डोज ही कोरोना से लड़ने में सक्षम है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 6, 2021, 08:16 PM IST
  • 80 फीसदी तक प्रभावी होने का दावा
  • भारत सरकार पहले ही दे चुकी है मंजूरी
सिंगल डोज वैक्सीन भी जल्द आ सकती है भारत, कोरोना की तीसरी लहर में होगी 'संजीवनी'

नई दिल्ली: कोरोना की भयावह महामारी के बीच भारत सरकार पहले ही रूसी वैक्सीन स्पुतनिक को मंजूरी दे दी है. इस बीच बड़ी खबर ये है कि रूस ने स्पुतनिक की सिंगल डोज वाली वैक्सीन को भी मंजूरी दे दी है.

सिंगल डोज वाली वैक्सीन को मिली मंजूरी

रूस की स्पुतनिक कंपनी कोरोना वैक्सीन का एक नया टीका लेकर आ गई है. इसका एक शॉट ही कोरोना को मात देने में सक्षम होगा. इसको 80 फिसदी असरदार बताया जा रहा है. ये महामारी को कम करने में मददगार साबित होगा. इसका असर दो डोज लेने वाली वैक्सीन से काफी ज्यादा है.

80 फीसदी तक प्रभावी होने का दावा

गौरतलब है कि रूस की कोरोना विरोधी वैक्सीन स्पुतनिक वी (Sputnik V) ने एक नया वर्जन लॉन्च किया है. इस वैक्सीन का नाम स्पुतनिक लाइट (Sputnik Light) रखा गया है और इसे सरकार द्वारा मंजूरी मिल गई है.

खबरों के मुताबिक इस वैक्सीन को 80 फीसद तक प्रभावी माना गया है.  स्पुतनिक लाइट का सिर्फ एक डोज ही कोरोना से लड़ने में सक्षम बताया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की चिंता दूर, जानिए कब और कैसे घर जाएंगे बाकी विदेशी खिलाड़ी

भारत सरकार पहले ही दे चुकी है मंजूरी

कोरोना के संकट की इस घड़ी से उभरने के लिए रूस अगले दो दिनों में स्पुतनिक-वी के टीकों की 150,000 खुराकों की दूसरी खेप भारत भेज रहा है. दोनों देशों के बीच हुई बातचीत के अनुसार रूस  जून तक 50 लाख और जुलाई में एक करोड़ से अधिक स्पुतनिक-वी के टीकों की खुराक भारत भेजने की तैयारी कर रहा है.

भारत की लगातार मदद कर रहा भारत

आपको बता दें कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में रूस खुलकर भारत के साथ खड़ा है और लगातार भारत को मदद भेज रहा है. भारत में कोरोना की दूसरी लहर के खिलाफ जो लड़ाई लड़ी जा रही है उसमें ऑक्सीजन और वैक्सीन को महत्वपूर्ण अस्त्र माना जा रहा है.

रूस टीकों के साथ न्यूनतम 4 ऑक्सीजन ट्रक भी भारत भेजने की तैयारी कर रहा है. नई दिल्ली और मास्को में स्थित राजनयिकों के मुताबिक ऑक्सीजन उत्पन्न करने वाले यह ट्रक प्रति घंटे 70 किलोग्राम और प्रतिदिन 50,000 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करने की क्षमता रखते हैं.

 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़