• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,10,960 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,26,770: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,09,462 जबकि अबतक 6,348 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • अंतर्राष्ट्रीय टीकाकरण गठबंधन के लिए भारत ने 15 मिलियन डॉलर देने का वचन दिया
  • केंद्र ने 4 जून, 2020 को राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों को जीएसटी मुआवजे के तौर पर 36,400 करोड़ रुपया जारी किया
  • कोविड-19 की रोकथाम हेतु MoHFW ने निवारक उपायों पर एसओपी जारी किया
  • ट्यूलिप– सभी यूएलबीऔर स्मार्ट शहरों में नए स्नातकों को अवसर प्रदान करने के लिए शहरी अध्ययन प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत
  • स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्ली को आक्रामक निगरानी, ​​संपर्क का पता लगाने और कड़े नियंत्रण कार्यों के साथ जांच बढ़ाने की आवश्यकता जोर
  • आइए कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई को मजबूत करें और सरकार द्वारा जारी किए गए सभी दिशानिर्देशों का पालन करें
  • मनरेगा के तहत मजदूरी और सामग्री दोनों के ही लंबित बकाये को समाप्त करने के लिए राज्यों को 28,729 करोड़ रुपये जारी किए गए
  • पीएमजीकेपी के तहत (02.06.2020 तक): चालू वित्तीय वर्ष में 48.13 करोड़ मानव कार्य-दिवस के रोजगार का सृजन

कोरोना लव स्टोरी: पहली नज़र का प्यार और कानपुर का बाजार

ये तो कमाल ही हो गया. इसी को प्यार कहते हैं. कोरोना की चिलचिलाती धूप में खिल जाए प्यार का मौसम इस महामारी के दौरान खाना बांट रहे नौजवान को सड़क पर प्यार हो जाए उस लड़की से जो भीख मांग रही हो..  

 कोरोना लव स्टोरी: पहली नज़र का प्यार और कानपुर का बाजार

नई दिल्ली. ऐसा हुआ है. ये कहानी नहीं जिंदगानी है जिसे होते हुए देखा गया है कानपुर के बाज़ार में. एक नौजवान जो एक बहुत अच्छे काम को दे रहा था अंजाम हुआ प्यार में गिरफ्तार उस नौजवान लड़की से जो उसकी नज़रों के सामने सड़क के एक कोने पर बैठ कर भीख मांग रही थी. अब कोई न कहे कि प्यार दीवाना नहीं होता है..

 

झट मुहब्बत पट ब्याह  

ये कोई मज़ाक नहीं था, ये सच था और पूरी शिद्द्त से सच हुई है ये प्रेम कहानी. उत्तरप्रदेश के औद्योगिक नगर कानपुर जिले में देखा गया है ये अपनी किस्म की मुहब्बत का नज़ारा. कोरोना के लॉकडाउन से पीड़ित लोगों को खाना बांट रहे एक नौजवान ने अचानक देखा भीख मांगती एक लड़की को. दोनों की निगाहें मिली और मारियो पूजो की शैली में थंडरबोल्ट हो गया. अगला दृश्य जो लोगों ने देखा वो ये था कि दोनों ने भगवान बुद्ध के आश्रम में शादी कर ली थी.  

सात सेकेंड बन गए सात जन्मों का साथ 

हमारी इस समाचार कथा का नायक है अनिल जो खाना खिलाने के मानवीय कार्य में अपनी भूमिका निभा रहा था और नायिका है नीलम जो कानपुर के बाज़ार में भीख मांग रही थीं. सात सेकंड के लिए दोनों की नज़रें चार हुईं और प्यार हो गया. प्यार भी इस कदर हुआ कि सात जन्मों का साथ बनते इसे देर न लगी. दोनों ने झट शादी भी कर डाली और इनकी शादी का जश्न मनाया सोशल मीडिया ने जिसने इनकी शादी के वीडियो को वायरल कर डाला.

 

खाना मांगा तो भर दी मांग 

ये राजा और रंक का मिलन तो नहीं था लेकिन उससे कम भी नहीं था. अनिल को दिल का राजा कहा जा सकता है लेकिन वक्त की मार की वजह से सड़क पर भीख मांगती नीलम रंक से कम भी नहीं थी. लॉकडाउन की बंदिशों के बीच पेट में जलती भूख की आग ने उसे भीख मांगने के लिए सड़क किनारे बैठा दिया. फुटपाथ पर भिखारियों के साथ बैठी नीलम ने मांगा खाना तो अनिल ने भर दी उसकी मांग. जिस नीलम को अनिल ने खाना खिलाया था अब नीलम उस अनिल को जीवन भर खाना खिलाएगी क्योंकि दोनों ने शादी कर ली है.

पिता नहीं हैं, मां को है लकवा 

नीलम की ज़िंदगी आसान नहीं थी इसलिए ही उसे ये दिन देखने पड़े कि सड़क के किनारे बैठ कर भीख मांगनी पड़ी. नीलम के पिता गुजर चुके हैं और उसकी मां को लकवा हो चुका है. उसके भाई-भाभी ने मारपीट कर के उसे घर से निकाल दिया. गुजारे का कोई साधन न होने के कारण नीलम वह लॉकडाउन में खाना लेने के लिए फुटपाथ पर भिखारियों के बीच बैठती थी.

 

ये भी पढ़ें. उत्तर कोरिया से आ रहे हैं संकेत कि किम नहीं रहा