• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,01,497 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,07615: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,00,303 जबकि अबतक 5,815 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • रेलवे ने 4155 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया; 57+ लाख यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुँचाया गया
  • इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री ने #AatmaNirbharBharat के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए 3 योजनाओं की शुरुआत की
  • #AatmaNirbharBharat के लिए #MakeInIndia को प्रोत्साहित करने के लिए DPIIT ने पब्लिक प्रोक्योरमेंट ऑर्डर, 2017 में संशोधन किया
  • एंटी-कोविड ​​ड्रग मॉलेक्यूल के फास्ट-ट्रैक विकास के लिए SERDB-DST ने IIT (BHU) वाराणसी में अनुसंधान के लिए सहयोग को मंजूरी दी
  • ट्राइफेड कोविड ​​-19 के कारण संकट में पड़े आदिवासी कारीगरों को हरसंभव सहायता प्रदान करेगी
  • पीएसए और डीएसटी ने संयुक्त रूप से राष्ट्रीय विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवाचार नीति 2020 के निर्माण की प्रक्रिया की शुरुआत की
  • कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने विभिन्न बागवानी फसलों के लिए 2019-20 का दूसरा अग्रिम अनुमान जारी किए हैं
  • कोविड के लक्षण विकसित होने पर, घबराएं नहीं, तुरंत 1075 पर कॉल करें #IndiaFightsCorona #BreakTheStigma

उत्तर कोरिया से आ रहे हैं संकेत कि किम नहीं रहा

उत्तर कोरिया सीधे सीधे तो नहीं बता रहा है कि किम जोंग उन नहीं रहा जबकि अमेरिकन खुफिया एजेन्सियों ने पहले ही खबर कर दी है कि तानाशाह इस दुनिया में नहीं है. अब उत्तर कोरिया से मिल रहे संकेत बता रहे हैं कि किम की कहानी हो गई है ख़तम ..   

उत्तर कोरिया से आ रहे हैं संकेत कि किम नहीं रहा

नई दिल्ली.  उत्तर कोरिया के आम लोगों के बीच में वर्षों से ये धारणा पैदा की गई थी कि किम जोंग उन परिवार को जादूई शक्तियां प्राप्त हैं. किम से जुड़े दावे अब किम के ही देश में ख़ारिज किये जा रहे हैं और इस बात से ही जाहिर है कि किम नहीं रहा. उसके रहते उत्तर कोरिया में ऐसा सोचना भी मौत को दावत देना होता.

 

उत्तर कोरिया के समाचार पत्र ने स्वीकारा 

ये खबर छपी है डेली मेल में. यूनाइटेड किंगडम के इस प्रमुख समाचार पत्र में प्रकाशित समाचार के अनुसार उत्तर कोरिया के आधिकारिक अखबार द्वारा इस तथ्य को स्वीकार किया गया है कि किम जोंग उन में 'अंतरिक्ष' और 'समय' को बदलने की सामर्थ्य नहीं है. इसके विपरीत उत्तर कोरिया के जनजीवन में बरसों से किम परिवार के पास जादुई शक्ति होने की बात प्रचलित की गई है. 

रोडोंग सिनमुन है प्रमुख समाचार पत्र 

रोडोंग सिनमुन उत्तर कोरिया का प्रमुख और आधिकारिक समाचार पत्र है. इस समाचार पत्र में  प्रकाशित समाचार से संकेत मिल रहा है कि उत्तर नॉर्थ कोरिया अब अपने तानाशाह शासक और उसके जीवन से संबंधित मिथकों से मुक्त होने के प्रयास कर रहा है और अब अपने नेता को अधिक मानवीय रूप में प्रदर्शित करने का इच्छुक है. 

 

चकजीबोप नामक मिथक तोड़ा जा रहा है 

रोडोंग सिनमुन अखबार ने अपने ताजा अंक में जो लिखा है वह चौंकाने वाला है. उत्तर कोरिया का यह समाचार पत्र कहता है कि  'सच्चाई तो ये है कि कोई इंसान आसमान में उड़ कर अचानक अंतर्धान या अवतरित नहीं हो सकता है.' इस समाचार से चकजीबोप (Chukjibeop) नाम का एक उत्तर कोरियाई मिथक टूट रहा है. चकजीबोप के अनुसार किम परिवार के सदस्य बहुत ही कम समय में अंतरिक्ष में बहुत लंबी दूरी तक जा सकते हैं. मूल रूप से इस कोरियाई शब्द चकजीबोप का अर्थ होता है Distance Shrinking Magic अर्थात ऐसा जादू जो दूरी कम करने का काम करता हो. 

ये भी पढ़ें. अब नए आतंकी संगठन तैयार कर रहा है पाकिस्तान