दलितों के नाम पर समाज तोड़ने की कोशिश, आप नेता संजय सिंह के खिलाफ शिकायत

राज्यसभा सांसद संजय सिंह के खिलाफ संसद मार्ग थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है. शिकायत में कहा गया है कि आप नेता ने राममंदिर भूमि पूजन से जुड़ा आपत्तिजनक ट्वीट किया. यह ट्वीट धार्मिक भावनाओं के विरुद्ध और समाज में विद्वेष पैदा करने वाला है. 

दलितों के नाम पर समाज तोड़ने की कोशिश, आप नेता संजय सिंह के खिलाफ शिकायत

नई दिल्लीः दिल्ली में कोरोना संकट के बीच आम आदमी पार्टी फिर से सियासी भंवर में फंस रही है. इस बार इसके केंद्र में आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह हैं, मसला राममंदिर भूमि पूजन का है और साथ में हैं कुछ बेतुके और झूठ की बेल पर चढ़े सवाल. इसके साथ ही देश में वैमनस्य फैलाने की कोशिश.

यह है मामला
विस्तार से बताएं तो मामला यह है कि राज्यसभा सांसद संजय सिंह के खिलाफ संसद मार्ग थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है. शिकायत में कहा गया है कि आप नेता ने राममंदिर भूमि पूजन से जुड़ा आपत्तिजनक ट्वीट किया. यह ट्वीट धार्मिकभावनाओं के विरुद्ध है.

साथ ही आरोप लगाया कि यह दलितों का भी अपमान करते हुए बोला गया कोरा झूठ है. मामले में शिकायत दर्ज कर ली गई है. 

भावना भड़काने का आरोप
जिस आरोप में आप नेता के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है वह वाकई राम मंदिर से जुड़ा हुआ है. दरअसल हुआ यह कि शुक्रवार को संजय सिंह ने भूमिपूजन में जातिगत भेदभाव का एंगल खोज निकाला सवाल करते हुए आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि राम मंदिर भूमि पूजन से दलितों को दूर रखा गया है. आखिर ऐसा क्यों है कि भूमि पूजन में किसी दलित को नहीं बुलाया गया. 

आप नेता ने जातिगद भेद पैदा करने की कोशिश की
संजय सिंह इतने पर ही नहीं रुके, उन्होंने इसे लेकर ट्वीट भी कर दिया, कि आज मुझे एक दलित नेता ने फोन किया. बोले भाई साहब राष्ट्रपति दलित, उन्हें नही बुलाया गया, उप मुख्यमंत्री मौर्य, उन्हें नही बुलाया गया. ऐसा क्यों? भाजपा दलितों को मंदिरों से बाहर क्यों रखना चाहती है?'

संजय सिंह ने गलत जानकारी के साथ ट्वीट किया
आप नेता को लगा कि उन्होंने सही किक मारी है और बॉल भाजपा के गोल में जा गिरी है. लेकिन दूसरी ओर गोलकीपर थे यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य.

आप नेता ने उन्हें आवाज देकर हिट किया था तो वे मैदान में ताल ठोंकते आ डटे और ट्वीट का जवाब ट्वीट से दिया. 

डिप्टी सीएम ने दे दिया जवाब
डिप्टी सीएम ने शनिवार दोपहर ट्वीट किया. कि मर्यादा पुरुषोत्तम राम जी के आशीर्वाद से शिलान्यास के पवित्र अवसर पर उपस्थित रहने का सुअवसर मिला. राम नाम जीने वाले पूज्य श्री अशोक सिंहल के साथ करोड़ों राम भक्तों के संकल्प को पूरा होते देखा.

सियावर रामचंद्र की जय.' डिप्टी सीएम ने इस ट्वीट किसी नाम का जिक्र तो नहीं किया, लेकिन इसके साथ निमंत्रण पत्र की तस्वीर भी साझा की. स्पष्ट हो गया कि उन्होंने संजय सिंह को माकूल जवाब दे दिया है. 

इसी आधार पर दर्ज हुई शिकायत
बस इसी ट्वीट-ट्वीट के खेल को आधार बनाकर और सुबूत के तौर पर पुलिस के सामने ले जाकर एक शख्स ने आप नेता के खिलाफ शिकायत दे दी. इधर संजय सिंह अभी भी भूमि पूजन में जातिवाद और दलित अस्मिता का झंडा बुलंद किए हुए हैं.

अब उन्होंने केशव प्रसाद मौर्य को टैग करना बंद कर दिया है और सिर्फ राष्ट्रपति का नाम लेते हुए ट्वीट कर रहे हैं. 

देखते हैं कि अब इस ओर से कैसा और क्या जवाब आता है. 

राजस्थान: भाजपा में गहमागहमी तेज, वसुंधरा राजे ने नड्डा के बाद राजनाथ से की मुलाकात

जेपी नड्डा और वसुंधरा राजे की मुलाकात के बाद गुजरात भेजे गए 12 विधायक