सचिन तेंदुलकर का चौंकाने वाला खुलासा, तनाव में गुजारा करियर का एक दशक

पूर्व सलामी बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा कि उनके जीवन में कई बार ऐसा हुआ था कि वे मैच से पहले वाली रात में सो नहीं सके. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 17, 2021, 06:41 PM IST
  • हर खिलाड़ी के जीवन में आता है बुरा समय
  • सचिन ने ही विराट को डिप्रेशन से निकाला था
सचिन तेंदुलकर का चौंकाने वाला खुलासा, तनाव में गुजारा करियर का एक दशक

मुंबई: दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर पर बड़ा खुलासा किया है. सचिन ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जिनके नाम दुनिया में सबसे अधिक ऐतिहासिक कीर्तिमान हैं. दुनियाभर के युवा सचिन को अपनी प्रेरणा मानकर क्रिकेट खेलते हैं और उन्हीं की तरह सफलता हासिल करने का सपना देखते हैं. 

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर के सम्बंध में जो खुलासा किया है उससे हर कोई आश्चर्य में पड़ गया है.

12 बेहद तनाव में खेली क्रिकेट- तेंदुलकर

पूर्व सलामी बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा कि उनके जीवन में कई बार ऐसा हुआ था कि वे मैच से पहले वाली रात में सो नहीं सके. उन्होंने कहा कि मेरे दिमाग में मैदान में प्रवेश करने से बहुत पहले मैच शुरू हो जाता था.  तनाव का स्तर बहुत अधिक रहता था.

मैंने 10-12 वर्षो तक तनाव महसूस किया था. मैच से पहले कई बार ऐसा हुआ था जब मैं रात में सो नहीं पता था. बाद में मैंने यह स्वीकार करना शुरू कर दिया कि यह मेरी तैयारी का हिस्सा है.

हर खिलाड़ी के जीवन में आता है बुरा समय

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि हर खिलाड़ी को अपने करियर में बुरे समय का सामना करना पड़ता है लेकिन यह जरूरी नहीं वह उसे स्वीकार करे. उन्होंने कहा, 'जब आप चोटिल होते हैं तो चिकित्सक या फिजियो आपका इलाज करते हैं.  

मानसिक स्वास्थ्य के मामले में भी ऐसा ही है. किसी के लिए भी अच्छे-बुरे समय का सामना सामान्य बात है. इसके लिए आपको चीजों को स्वीकार करना होगा. यह सिर्फ खिलाड़ियों के लिए नहीं है, बल्कि जो उसके साथ है उस पर भी लागू होती है.

ये भी पढ़ें- फिट होकर भी अनफिट हो गया इंग्लैंड का ये खिलाड़ी, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से बाहर

सचिन ने ही विराट को डिप्रेशन से निकाला था

विराट कोहली ने कुछ महीने पहले स्वीकार किया था कि 2015 के इंग्लैंड के बेहद खराब दौरे के बाद वे डिप्रेशन में चले गए थे और उन्हें लगने लगा था कि उनका करियर यहीं पर खत्म हो गया. लेकिन उस मुश्किल समय में सचिन तेंदुलकर ने विराट कोहली की मदद की और उन्हें मजबूत किया. 

सचिन तेंदुलकर ऐसे खिलाड़ी रहे हैं कि उन्हें देखकर कई युवा खिलाड़ियों में जोश और नई ऊर्जा का संचार हो जाता था.

क्रिकेट के इतिहास में सचिन तेंदुलकर इकलौते ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने टेस्ट में सबसे ज्यादा शतक, टेस्ट में सर्वाधिक रन, वनडे में सर्वाधिक रन और शतक तथा शतकों का भी शतक जमाया है. भारत रत्न से सम्मानित सचिन तेंदुलकर ने भारत के लिए कई वनडे मैचों में कप्तानी भी की है.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़