प्लेन से यात्रा करने वाले लोगों को क्वारंटाइन होने की जरूरत नहींः उड्डयन मंत्री

पुरी ने कहा, 'मैं समझता हूं कि अगर आपके पास आरोग्य सेतु ऐप है और आपने अपने आप को टेस्ट कराया है. आप में लक्षण नहीं हैं और आप टेस्ट में नेगेटिव पाए गए हैं तो आपको क्वारंटाइन होने की जरूरत ही नहीं होनी चाहिए.' 

प्लेन से यात्रा करने वाले लोगों को क्वारंटाइन होने की जरूरत नहींः उड्डयन मंत्री

नई दिल्लीः लॉकडाउन की लंबी अवधि के बाद सोमवार से देश में घरेलू उड़ान सेवाएं शुरू हो रही हैं. एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने इस दौरान कहा है कि प्लेन में सफर करने वाले लोगों को यात्रा के बाद 14 के क्वारंटाइन की जरूरत नहीं पड़ेगी. इससे पहले ही वह बता चुके थे कि विमान में बीच की सीटों को खाली नहीं छोड़ा जाएगा. अब उन्होंने यह भी साफ किया है कि प्लेन में सफर करने वाले लोगों को यात्रा के बाद 14 दिन क्वारंटाइन में रहने की जरूरत नहीं होगी.

आरोग्य सेतु ऐप होने पर ही मिलेगी इजाजत
पुरी ने कहा, 'मैं समझता हूं कि अगर आपके पास आरोग्य सेतु ऐप है और आपने अपने आप को टेस्ट कराया है. आप में लक्षण नहीं हैं और आप टेस्ट में नेगेटिव पाए गए हैं तो आपको क्वारंटाइन होने की जरूरत ही नहीं होनी चाहिए.' सोमवार से शुरू हो रही घरेलू उड़ान सेवा में सिर्फ उन्हीं यात्रियों को इजाजत दी जाएगी जिनके पास आरोग्य सेतु ऐप होगा और उसमें उनका सिग्नल ग्रीन दिख रहा होगा. यात्रा से पहले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग होगी. कोरोना जैसे लक्षण मिलने पर यात्रा की इजाजत नहीं होगी.

कुछ राज्यों ने क्वारंटाइन में रहना किया है अनिवार्य
कर्नाटक, असम और जम्मू-कश्मीर जैसे कई राज्यों ने दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के लिए इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन को अनिवार्य कर रखा है. ऐसे में सवाल उठ रहा था कि 25 मई से शुरू हो रही घरेलू उड़ान सेवाओं के बाद क्या यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने के बाद क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा.

कोरोना वायरस की काट है देसी काढ़ा

फेसबुक लाइव कर दिए  सवालों के जवाब
नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी शनिवार को अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लाइव हुए. इस दौरान उन्होंने कहा कि अगस्त से पहले हम अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए उड़ानें शुरू कर सकते हैं. फ्लाइट शुरू करने से पहले कोरोना वायरस के हालात का आकलन किया जाएगा.  उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी व एयरलाइंस कंपनियां पूरी तरह से तैयार हैं.

कोरोना के साथ जीना मजबूरी, ये उपाय करना बेहद जरुरी