पंजाब में कोहरे से बर्बाद हुई आलू और मटर की फसल, किसानों ने सरकार से की मुआवजे की मांग
topStories0hindi1542972

पंजाब में कोहरे से बर्बाद हुई आलू और मटर की फसल, किसानों ने सरकार से की मुआवजे की मांग

Farmer News: पंजाब में पिछले दिनों पढ़े कोहरे की वजह से किसानों की आलू और मटर की फसल बर्बाद हो रही है. किसानों के अनुसार उनका 70 प्रतिशत तक  नुकसान हुआ है. 

 

पंजाब में कोहरे से बर्बाद हुई आलू और मटर की फसल, किसानों ने सरकार से की मुआवजे की मांग

अनिल जैन/संगरूर: हिमाचल प्रदेश में इन दिनों बर्फबारी का दौर जारी है. वहीं, पंजाब में कुछ दिनों पहले पारा जीरो डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. मैदानी इलाकों में फसलों पर कोहरे की सफेद चादर बिछ चुकी थी. लगातार 4 दिन पड़े कोहरे से कई फसलों को फायदा हुआ, लेकिन आलू और मटर की फसल को नुकसान कोहरे से नुकसान झेलना पड़ा. 

किसानों का कहना है कि उनकी 70 प्रतिशत तक फसल बर्बाद हो गई है. कई किसानों ने तो अपनी फसल पर ट्रैक्टर चला दिया. पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के गृह जिला संगरूर और मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र धुरी में किसानों की आलू की फसल का सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है. किसान अब सरकार से मुआवजे की मांग कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर मटर की खेती करने वाले किसानों का भी बड़े स्तर पर नुकसान हुआ है. लहरागागा इलाके में एक किसान ने 4 एकड़ मटर की खेती की, जिसमें से 3 एकड़ पर ट्रैक्टर चला दिया गया जबकि 1 एकड़ भी कोहरे की मार से बर्बाद हो गई. 

ये भी पढ़ें- Himachal: उच्च शिक्षा के लिए बेटियों को दी जा रही आर्थिक सहायता, ऊना में दी गई इतनी धनराशि

पीड़ितो किसानों ने सरकार से की मुआवजे की मांग
किसानों ने बताया कि उन्होंने अपने घर की 4 एकड़ जमीन पर आलू की खेती की जो कोहरे की वजह से बर्बाद हो गई है. उन्होंने कहा कि वह पिछले 2 वर्ष से आलू की खेती कर रहे हैं, लेकिन इस बार इतना नुकसान हुआ है कि लेबर का खर्च भी नहीं निकल पाएगा. रात के समय ट्रैक्टर पर महंगा डीजल लगाकर खेत में पानी दिया था. उन्होंने पंजाब के सीएम भगवंत मान से अपील करते हुए कहा कि जैसे दूसरी फसलों का मुआवजा दिया जाता है उन्हें भी उनकी जमीन और फसल के हिसाब से मुआवजा दिया जाए. 

3 एकड़ जमीन पर हुआ मटर की फसल का नुकसान
वहीं, लहरागागा के गांव रोडेवाल में किसान निर्भय सिंह ने अपने खेत में 4 एकड़ जमीन पर मटर की खेती की थी, लेकिन उनकी फसल भी कोहरे की वजह से खराब हो गई. उन्होंने कहा कि फिलहाल 3 एकड़ मटर की फसल खराब हो गई है जबकि 1 एकड़ फसल बाकी है वह भी खराब होने की कगार पर है. उन्होंने कहा कि सरकार को उनके खेतों में संबंधित विभाग के अधिकारी भेजकर जायजा लेना चाहिए और उन्हें कोहरे से हुए नुकसान का मुआवजा दिया जाए.

ये भी पढ़ें- PM Kisan yojna: इस तारीख को आ सकती है पीएम किसान योजना की 13वीं किस्त, जानें अपडेट

सरकार को भेजी जाएगी नुकसान की रिपोर्ट 
इस संबंध में संगरूर बागवानी विभाग के डायरेक्टर डॉ. निर्वंत सिंह ने कहा कि इस बार बड़ी मात्रा में फसलों पर कोहरे का असर देखने को मिल रहा है. सबसे ज्यादा आलू की फसल पर कोहरे का असर हुआ है. उन्होंने कहा कि जिन किसानों ने अक्टूबर महीने में आलू की फसल की बिजाई कर दी  थी उनकी फसल खराब नहीं हुई है ऐसा इसलिए क्योंकि वह फसल लगभग तैयार हो चुकी थी, लेकिन जो जिस फसल की बिजाई नवंबर महीने में हुई थी उस पर 40 से 50 प्रतिशत तक का नुकसान का अनुमान है. उन्होंने कहा कि हम किसानों के पास जाकर लिस्ट बना रहे हैं कि किस किसान की आलू और किसकी मटर खराब हुई है, जिसकी रिपोर्ट बनाकर आगे सरकार को भेजी जाएगी.

WATCH LIVE TV

Trending news