अंडमान निकोबार: PM मोदी ने किया हाई स्पीड इंटरनेट प्रोजेक्ट का इफ्तेताह

अब अंडमान निकोबार के लोगों को भी मोबाइल कनेक्टिविटी और तेज़ इंटरनेट की वही सस्ती और अच्छी सर्विसेज़ मिल पाएंगी, जिसके लिए आज पूरी दुनिया में हिंदुस्तान अग्रणी है

अंडमान निकोबार: PM मोदी ने किया हाई स्पीड इंटरनेट प्रोजेक्ट का इफ्तेताह
फोटो बशुक्रिया ANI

नई दिल्ली: वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी ने पीर के रोज़ चेन्नई और पोर्ट ब्लेयर को जोड़ने वाले सबमरीन ऑप्टिकल फाइबर केबल का इफ्तेताह किया. दिसंबर 2018 में इस प्रोजेक्ट की बुनियाद वज़ीरे आज़म मोदी ने ही रखी थी. 1224 करोड़ रुपये की लागत से लगभग 2300 किलोमीटर लंबी सबमरीन ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाई गई है. सरकारी कंपनी BSNL ने समंदर के अंदर केबल बिछाने का काम पूरा किया है.

इस दौरान वज़ीरे आज़म मोदी ने खिताब करते हुए कहा कि आज का दिन अंडमान-निकोबार के दर्जनों जज़ीरों में बसे लाखों साथियों के लिए तो अहम है ही साथ ही पूरे मुल्क के लिए भी बेहद अहम है. उन्होंने आगे कहा कि चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर, पोर्ट ब्लेयर से लिटिल अंडमान और पोर्ट ब्लेयर से स्वराज जज़ीरे तक, अंडमान निकोबार के एक बड़े हिस्से में ये सर्विस आज से शुरु हो चुकी है. समंदर के अंदर करीब 2300 किलोमीटर तक केबल बिछाने का ये काम वक्त से पहले पूरा करना, अपने आप में काबिले तारीफ है

अब अंडमान निकोबार के लोगों को भी मोबाइल कनेक्टिविटी और तेज़ इंटरनेट की वही सस्ती और अच्छी सर्विसेज़ मिल पाएंगी, जिसके लिए आज पूरी दुनिया में हिंदुस्तान अग्रणी है. अब ग्रेट निकोबार में करीब 10 हजार करोड़ की मुमकिना लागत से ट्रांसिप्मेंट पोर्ट की तामीर की तजवीज़. कोशिश है कि आने वाले 4-5 साल में इसके पहले फेस को बनाकर तैयार कर लिया जाए. एक बार जब ये पोर्ट बनकर तैयार हो जाएगा तो यहां बड़े-बड़े जहाज़ भी रुक पाएंगे.

सबमरीन ऑप्टिकल फाइबर केनल लिंक चेन्नई और पोर्ट ब्लेयर के दरमियान 2X200 गीगाबाइट फी सेकेंड की बैंडविड्थ (जीबीपीएस) देगा. पोर्ट ब्लेयर और दूसरे जज़ीरों के बीच 2X100 गीगाबाइट फी सेकेंड की बैंडविड्थ से अब लोगों को इंटरनेट मिलेगा. बेहतर टेलीकॉम और ब्राडबैंड सर्विस से अंडमान निकोबार जज़ीरा इलाके में सियाहत और रोज़गार सृजन को गति मिलेगी. अर्थव्यवस्था भी मजबूत होगी और लोगों का जीवन स्तर सुधरेगा.  

Zee Salaam LIVE TV