फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती ने फिलिस्तीन में इज़राइली बर्बरियत की मज़म्मत की, मुस्लिम मुल्कों से की ये अपील

एक मुत्तहिदा बयान में नेशनल कान्फ्रेंस के सदर फारूक अब्दुल्ला और नायब सदर उमर अब्दुल्ला समेत नेशनल कान्फ्रेंस के नेताओं ने फिलिस्तीन में किए जा रहे जुल्म की कड़े अलफाज़ में मज़म्मत की और फिलिस्तीनियों के साथ इत्तिहाद का मुज़ाहिरा किया.

फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती ने फिलिस्तीन में इज़राइली बर्बरियत की मज़म्मत की, मुस्लिम मुल्कों से की ये अपील
फाइल फोटो

श्रीनगर: नेशनल कान्फ्रेंस ने फलस्तीन में इज़राइली बलों की जानिब से  फिलिस्तीनियों के खिलाफ के किए गए हमले की बुधवार को निंदा की और मुस्लिम मुल्कों से कहा कि वे एक साथ मिलकर यहूदी रियासत पर दबाव बढ़ाएं.

एक मुत्तहिदा बयान में नेशनल कान्फ्रेंस के सदर फारूक अब्दुल्ला और नायब सदर उमर अब्दुल्ला समेत नेशनल कान्फ्रेंस के नेताओं ने फिलिस्तीन में किए जा रहे जुल्म की कड़े अलफाज़ में मज़म्मत की और फिलिस्तीनियों के साथ इत्तिहाद का मुज़ाहिरा किया.

इज़राइली हमलों की मज़म्मत करते हुए नेताओं ने कहा कि रमज़ान के पाक महीने में भी इज़राइल ने पूर्वी यरुशलम, अल-अक्सा मस्जिद, शेख जर्राह और बाब अल-अमुद पर 'गैर मुनाबिक जंग' की जिस वजह से कई बेगुनाह फिलिस्तीनी मारे गए हैं.

ये भी पढ़ें: फिलिस्तीन को लेकर बोले अरशद मदनी- अभी भी नहीं जागे, तो कल तक बहुत देर हो जाएगी

उन्होंने कहा कि औरतों और बच्चों तक को नहीं छोड़ा गया है. पार्टी ने कहा, 'सिर्फ अमेरिका को खुश करने के लिए वे फिलिस्तीनियों के खिलाफ इज़राइल मुस्लिम मुल्क हमले की निंदा करने की हिम्मत तक नहीं जुटा पा रहे हैं. उन्हें एकजुट होकर फिलिस्तीन में फौरन यह हमला रोकने के लिए इजराइल और उसके दोस्त मुल्कों पर दबाव बढ़ाना चाहिए.'

इस बीच, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि फलस्तीन पर इज़राइल के घातक हमलों और बेगुनाह शहरियों की मौत पर आमली बिरादरी की खामोशी हैरान करने वाली है.

मुफ्ती ने ट्वीटर पर कहा कि यहां तक कि अलामती मुजम्मत के साथ ही इजराइल के हिफाज़त के हक के नाम पर जुल्म को सही ठहराया जा रहा है.
उन्होंने पूछा फिलिस्तीनियों की ज़िंदगी के हक का क्या?

गौरतलब है कि मस्जिद अल अक्सा में फलस्तीनी और इजराइली सिक्योरिटी फोर्सेज़ के बीच पिछले दिनों हुई झड़प ने हिंसक शक्ल इख्तियार करली है. दोनो जानिब से रॉकेट दागे जा रहे हैं. इजराइल के विदेश मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि हमास ने रिहायशी इलाके में करीब 130 रॉकेट दागे हैं और यरुशलम में भारी हिंसा फैलाई. 

ये भी पढ़ें: इज़राइली हमले में मरने वाले फ़िलिस्तीनियों की तादाद बढ़कर 43 हुई, 300 से ज़्यादा ज़ख्मी

 

गाज़ा के वज़ारते सेहत ने बयान जारी करके कहा है कि कि गाज़ा में इज़राइल के हवाई हमले में मरने वालों की तादाद बढ़कर 53 हो गई है जिसमें 13 बच्चे और तीन औरतें शामिल हैं. वज़ारते सेहत ने कहा कि हमले में इलाके के करीब 300 फलस्तीनी जख्मी हुए हैं. यह हमले सोमवार को शुरू हुए थे और हमास ने इज़राइल पर रॉकेट दागे थे.
(इनपुट-पीटीआई के साथ भी)

Zee Salam Live TV: