मुंबई में भारी बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त; कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात
topStories0hindi1245549

मुंबई में भारी बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त; कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात

महाराष्ट्र के कई हिस्सों में भारी बारिश को देखते हुए सरकार ने मुंबई और कोंकण में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की 24 टीमें तैनात कर दी है. 

 मुंबई में भारी बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त; कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात

मुंबईः महाराष्ट्र के कई इलाके भारी बारिश की चपेट में है. कई जगह पर भूस्खलन की भी सूचना है. बारिश के कारण मुंबई के उत्तर-पश्चिम हिस्से में चार मुख्य मार्गों को बंद करना पड़ा. गोलिबार, मिलन, अंधेरी और मलाड नाम के ये अंडरपास मार्ग उत्तर-पश्चिमी उपनगरों के पूर्व और पश्चिम हिस्सों को आपस मेंजोड़ते हैं. बारिश के कारण कई जगहों पर यातायात जाम हो गया है, जिससे वाहन सड़कों पर रेंगते हुए नज़र आ रहे हैं. सांताक्रूज में कलिना यूनिवर्सिटी के पास कुर्ला जाने के रास्ते में वाहनों को बाधाओं का सामना करना पड़ रहा था.
एक अधिकारी ने कहा कि इस बीच, मुंबई में पिछले 24 घंटों में 117 मिमी, मुंबई के उपनगरों में 124 मिमी और पालघर में 100 मिमी औसत बारिश दर्ज की गई है.
अमरावती के दो गांवों में बाढ़ जैसे हालात पैदा होने की वजह से, स्थानीय टीमों का उपयोग करके फंसे हुए ग्रामीणों को निकालने का काम शुरू किया गया है.
 

ठाणे में पहाड़ी से गिरे पत्थर, पालघर में कच्चा मकान ढहा
महाराष्ट्र के ठाणे जिले में भारी बारिश के बाद एक पहाड़ी से बड़े-बड़े पत्थर गिरने लगे, जबकि पड़ोसी पालघर जिले में एक कच्चा मकान ढह गया. अफसरों ने बताया कि हादसों में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. दोनों जिलों के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के कारण बाढ़ आने का खतरा है, जिसके मद्देनजर कई लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. ठाणे के कल्याण और भिवंडी कस्बों में कई निचले इलाकों में पानी भर गया है और वहां से कई लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया.

अगले 24 घंटों में और तेज होने के आसार 
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने अगले 24 घंटों में मुंबई और उसके उपनगरों में मध्यम से भारी बारिश होने का इमकान जताया है. अफसरों ने बताया कि मुंबई की लोकल ट्रेन सेवाएं मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे दोनों मार्गों पर सामान्य रूप से चल रही हैं. मुंबई और पड़ोसी जिलों के 75 लाख से अधिक यात्री प्रतिदिन लोकल ट्रेन में यात्रा करते हैं.विभाग ने सोमवार को मुंबई और ठाणे के लिए ‘येलो अलर्ट’ जारी किया था. अगले पांच दिनों में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है.

एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 24 टीम तैनात 
इस बीच राज्य सरकार ने मंगलवार को बाढ़ प्रभावित तटीय कोंकण में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 24 टीमों को तैनात कर किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रखा है. एनडीआरएफ यानी राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की दो-दो टीमों को मुंबई, ठाणे और कोल्हापुर में और एक-एक दल पालघर, रायगढ़ और रत्नागिरी में तैनात किया गया है. एसडीआरएफ की एक-एक टीम नांदेड़ और गढ़चिरौली में पहले से ही मैदान में है जहां मंगलवार शाम से भारी बारिश जारी है. इसके अलावा, एनडीआरएफ की 9 टीमों को तैयार रखा गया है, जिनमें मुंबई, पुणे और नागपुर के बेस स्टेशनों में प्रत्येक में 3 और धुले और नागपुर में बेस स्टेशनों पर एसडीआरएफ की 2 टीमों को तैनात किया गया है.

Zee Salaam

Trending news