close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेजन ने भी शुरू की Fastag की बिक्री, Toll पर ब्रेक लगाए बिना भरेंगे फर्राटा

बिना किसी रुकावट के सड़क पर यातायात करने और डिजिटल टोल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए अब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म अमेजन (amazon) के जरिये भी फास्टैग खरीदा जा सकता है.

अमेजन ने भी शुरू की Fastag की बिक्री, Toll पर ब्रेक लगाए बिना भरेंगे फर्राटा

नई दिल्ली : बिना किसी रुकावट के सड़क पर यातायात करने और डिजिटल टोल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए अब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म अमेजन (amazon) के जरिये भी फास्टैग खरीदा जा सकता है. फास्टैग फिर से चार्ज कराने योग्य टैग है. इसके माध्यम से टोल नाकों पर टोल भुगतान अपने आप कट जाता है. भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) फास्टैग चार पहिया वाहनों यानी कार, जीप और वैन के लिए ही ऑनलाइन उपलब्ध है.

बैंक खाते से जोड़ना होता है फास्टैग
सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने बयान में कहा, 'फास्टैग अब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म अमेजन पर भी उपल्ब्ध है. ऑनलाइन एनएचएआई फास्टैग स्वयं कार्य करने (डू-इट-योरस्लेफ) की परिकल्पना के आधार पर तैयार किया गया है. माई फास्टैग एप में उपभोक्ता और वाहन का विस्तृत ब्‍योरा डालकर खुद से फास्टैग को सक्रिय किया जा सकता है. इसके बाद उपभोक्ता को अपनी पसंद के मौजूदा बैंक खाते से टैग को जोड़ना होगा.'

7 बैंकों में दी गई है बैंक खाते से जोड़ने की सुविधा
वर्तमान में फास्टैग को बैंक खाते से जोड़ने की सुविधा 7 बैंकों में दी गई है. इनमें एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, इंडसइंड बैंक, पेटीएम पैमेंट्स बैंक और इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक शामिल है. एनएचएआई द्वारा प्रवर्तित भारतीय राजमार्ग प्रबंधन कंपनी लिमिटेड (आईएचएमसीएल) ने जनवरी 2019 में फास्टैग पेश किया था.

राजमार्ग प्राधिकरण के फास्टैग के लिए किसी बैंक को चुना नहीं गया है. उपभोक्ता माई फास्टैग मोबाइल एप से फास्टैग को अपने वर्तमान बैंक खाते से लिंक कर सकता है. यह एप गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है. फास्टैग दिल्ली-एनसीआर में चुनिंदा पेट्रोल पम्पों तथा सामान्य सेवा केन्द्रों (सीएससी) पर भी उपलब्ध है. इसका विस्तार अन्य मेट्रों शहरों तक करने की प्रक्रिया चल रही है.

मंत्रालय ने कहा कि यह ऑनलाइन बिक्री व्यवस्था आईएचएमसीएल के लिए महत्वपूर्ण उपलब्धि है और इससे उपभोक्ताओं तक फास्टैग आसानी से पहुंच जाएगा. एनएचएआई फास्टैग ऑनलाइन उपलब्ध होने से उपयोगकर्ताओं की सुविधा बढ़ेगी और आसानी से टोल का डिजिटल भुगतान हो सकेगा , जिसके परिणामस्वरूप समय , धन और ईंधन की बचत होगी.