close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक : अगर हमारे पास होता राफेल तो क्यों नहीं भेजने पड़ते 12 मिराज!

भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) ने पुलवामा में हुए हमले की जवाबी कार्रवाई के लिए फाइटर जेट 'मिराज-2000' का इस्तेमाल किया है.

पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक : अगर हमारे पास होता राफेल तो क्यों नहीं भेजने पड़ते 12 मिराज!

नई दिल्ली : भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) ने पुलवामा में हुए हमले की जवाबी कार्रवाई के लिए फाइटर जेट 'मिराज-2000' का इस्तेमाल किया है. इंडियन एयरफोर्स ने 'मिराज-2000' से मंगलवार तड़के करीब 3.45 बजे पीओके में बने आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया. इस कार्रवाई में भारत की तरफ से 12 मिराज-2000 विमानों ने आतंकी ठिकानों पर 1000 किलोग्राम से ज्यादा विस्फोटक गिराया. भारत की तरफ से की गई जवाबी कार्रवाई की भारतीय विदेश सचिव ने पुष्टि की है. वहीं पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने बताया कि भारतीय वायुसेना के विमानों ने लाइन ऑफ कंट्रोल का उल्लंघन किया है.

200 से 300 आतंकियों के मारे जाने की खबर
मिराज-2000 से की गई कार्रवाई में पाकिस्तान की धरती पर 200 से 300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है. आपको बता दें मिराज को भी फ्रांस की उसी कंपनी डसॉल्ट ने ही बनाया है जिसने राफेल को तैयार किया है. राफेल 'मिराज-2000' से भी ज्यादा शक्तिशाली विमान है. ऐसे में यह सोचना लाजिमी है अगर आज भारतीय वायु सेना के पास राफेल विमान होता तो इस कार्रवाई का अंजाम क्या होता. इसका अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि राफेल मिराज से कई मामलों में आगे हैं. जानकारों का यह भी कहना है कि 12 'मिराज-2000' के मुकाबले कम राफेल को ही पीओके भेजना पड़ता. आगे पढ़िए राफेल और मिराज-2000 की खासियत.

मिराज के मुकाबले राफेल
- राफेल यह दो इंजन वाला फाइटर जेट है, इसे हर तरह के मिशन पर भेजा जा सकता है. भारतीय सेना के पास मौजूद मिराज-2000 की बात करें तो यह विमान एक सीट वाला फाइटर जेट है. यह फाइटर जेट हवा से जमीन और हवा से हवा में मार करने में माहिर है.

- राफेल की सबसे अहम खूबी यह है कि यह एक मिनट में 60 हजार फुट की ऊंचाई तक जा सकता है. राफेल की अधिकतम रफ्तार 2200 सक 2500 प्रतिघंटा किमी है. जबकि मिराज विमान एक घंटे में 2495 किलोमीटर की दूरी तय करने में सक्षम है. मिराज-2000 हर तरह के मौसम में उड़ान भरने में सक्षम है.

-राफेल विमान अत्याधुनिक हथियारों से लैस है. इसमें प्लेन के साथ मेटेओर मिसाइल भी है. राफेल 150 किमी की बियोंड विजुअल रेंज मिसाइल से लैस है. हवा से जमीन पर मार वाली स्कैल्प मिसाइल है. वहीं, 'मिराज-2000' बेहद तेज गति से कम ऊंचाई पर उड़ते हुए जमीन पर मौजूद दुश्मन के ठिकानों पर बमबारी कर सकता है. मिराज 2000 एक साथ कई निशाने पर हमला कर सकता है.

- राफेल स्कैल्प मिसाइल की रेंज 300 किमी. इसकी मारक क्षमता 3700 किमी. तक की है. वहीं, 'मिराज-2000' एक बार में 17 हजार किलोग्राम भार ले जाने में सक्षम है.

- राफेल परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है. यह 75% विमान हमेशा ऑपरेशन के लिए तैयार हैं. इस विमान में भारतीय वायुसेना के हिसाब से फेरबदल किए गए हैं. वहीं, मिराज 2000 में हथियारों के लिए नौ हार्ड प्वाइंट हैं. प्लेन के नीचे पांच और दो दोनों तरफ के पंखों पर हथियार हैं. भारत के पास 51 मिराज 2000 विमानों का बेड़ा है.