close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Credit Card पेमेंट के लिए नहीं हैं पैसे, अपनाएं यह रास्ता और फाइन से बचें

क्रेडिट कार्ड के पेमेंट से जुड़े नियमों को जानना बेहद जरूरी है. अगर आप नियमों को नहीं जानते हैं तो फाइन और ब्याज कितना देना है और इससे कैसे बचा जा सकता है, इसे नहीं जान पाएंगे.

Credit Card पेमेंट के लिए नहीं हैं पैसे, अपनाएं यह रास्ता और फाइन से बचें
क्रेडिट कार्ड लिमिट को कभी क्रॉस नहीं करें. (फाइल)

नई दिल्ली: क्रेडिट कार्ड एक ऐसी लत है, जो एकबार लग जाए तो छूटने का नाम नहीं लेती है. क्योंकि, खरीददारी करते वक्त आपको कैश की जरूरत नहीं होती है, जिसकी वजह से ज्यादातर लोग जरूरत से ज्यादा खर्च कर देते हैं. डेबिट कार्ड में खर्च करने पर आपको पता रहता है कि आपके पास मात्र इतने रुपये बचे हैं, लेकिन क्रेडिट कार्ड के साथ ऐसा नहीं होता है. ऐसे में महीने के आखिरी में जब क्रेडिट कार्ड का बिल आता है तो आपके होश उड़ जाते हैं. आपके डेबिट में बिल चुकाने लायक पैसे नहीं होते हैं, ऐसे में ज्यादातर लोग उसे अगले महीने के लिए टाल देते हैं. हालांकि, इसके लिए आपको फाइन और ब्याज दोनों चुकाने पड़ते हैं. अगर आपको मालूम नहीं है कि क्रेडिट कार्ड का पेमेंट टालने पर आपको कितना नुकसान होता है तो इस आर्टिकल में आपको सबकुछ बताया जा रहा है.

अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो आप बिलिंग डेट के बारे में जरूर जानते होंगे. बिलिंग डेट का मतलब जिस दिन आपका बिल जेनरेट होता है. अगर आपका बिलिंग डेट 10 मई है तो 10 अप्रैल से लेकर 10 मई के बीच जितनी खरीदारी की है, उसका बिल 10 मई को जेनरेट होगा. बिलिंग डेट के 12-15 दिनों (मान के चलिए 22 मई) के भीतर आपको पेमेंट करना होता है. अगर आपने पूरा पेमेंट कर दिया तो आपको किसी तरह का शुल्क का ब्याज नहीं लगता है. इसके फायदे, इस तरह से समझे जा सकते हैं कि अगर आपको कोई खरीदारी 15 अप्रैल को की है तो पेमेंट के लिए आपको पास 37 दिनों का वक्त (15 अप्रैल से 22 मई) मिलता है. अगर कोई खरीदारी 8 मई को की है तो उसके लिए भी आपको 14 दिन (8 मई से 22 मई) का वक्त मिलता है.

क्या आपका क्रेडिट-डेबिट कार्ड इंश्योर्ड है ? अगर हां, तो चोरी होने पर भी नहीं पड़ेगा कोई असर

अगर आपने पेमेंट के आखिरी दिन तक पूरा बिल पे नहीं किया तो क्या होगा?
1. अगर आपके कार्ड का बिल जेनरेट हो गया है और पेमेंट को आपने अगले महीने के लिए टाल दिया तो तो आपको ब्याज और पेनाल्टी दोनों भरना होगा. इसके साथ-साथ आपके सिविल स्कोर पर भी नकारात्मक असर पड़ता है.
2. ऐसे में आपको मिनिमम ड्यू पेमेंट कर देना चाहिए. बिल को गौर से देखने पर आप पाएंगे कि टोटल आउटस्टैंडिंग अमाउंट के साथ-साथ मिनिमम पेमेंट लिखा होता है. अगर आपने मिनिमम पेमेंट भी कर दिया तो, आपको केवल ब्याज चुकाना होगा. आप पेनाल्टी से बच जाएंगे. साथ ही सिबिल स्कोर पर भी नकारात्मक असर नहीं पड़ेगा.

महत्वपूर्ण बातें
सभी क्रेडिट कार्ड का एक लिमिट होता है. जैसे-जैसे आप कार्ड का इस्तेमाल करते जाते हैं और अगर आपका सिबिल स्कोर मजबूत है तो क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ा दी जाती है. अगर आपने लिमिट से ज्यादा खर्च कर दिया तो आपको चार्ज भरना होगा. यह करीब 600 रुपये से 1000 रुपये तक हो सकता है. इसलिए, अगर क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो इन बातों का ध्यान जरूर रखें.