close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत से दोस्ती तोड़ना पाकिस्तान को पड़ेगा भारी, अब कहां से लाएगा केमिकल

कश्मीर से धारा 370 हटाने का सीधा असर भारत और पाकिस्तान के संबंधों पर हुआ है. पाकिस्तान ने बिना कुछ सोचे भारत के साथ व्यापारी संबंध रोक लगाने का ऐलान किया है. गुजरात के नजरीये से देखें तो गुजरात के कई केमिकल इंडस्ट्रलिस्ट पाकिस्तान में केमिकल निर्यात करते थे. पाकिस्तान ने व्यापार बंद करने की धोषणा के चलते इन उद्योग करने वालों को तकरीबन 1000 करोड़ का पेमेन्ट रूक चुका है. 

भारत से दोस्ती तोड़ना पाकिस्तान को पड़ेगा भारी, अब कहां से लाएगा केमिकल
पाकिस्तान के टेक्सटाइल उद्योग के लिए केमिकल भारत से ही निर्यात होता है. प्रतीकात्मक तस्वीर

अहमदाबाद: पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापारिक संबंधों पर रोक लगाकर आर्थिक मंदी को न्योता दे दिया है. पाकिस्तान के ज्यादातर उद्योग भारत पर निर्भर करते हैं. पाकिस्तान के टेक्सटाइल उद्योग का अधिकतम मैटेरियल भारत से जाता है. इसके अलावा रसायन भी भारत से जाता है. व्यापारी संबंधों पर रोक लगने के कारण उस पर भारी असर होगा. 

कश्मीर से धारा 370 हटाने का सीधा असर भारत और पाकिस्तान के संबंधों पर हुआ है. पाकिस्तान ने बिना कुछ सोचे भारत के साथ व्यापारी संबंध रोक लगाने का ऐलान किया है. गुजरात के नजरीये से देखें तो गुजरात के कई केमिकल इंडस्ट्रलिस्ट पाकिस्तान में केमिकल निर्यात करते थे. पाकिस्तान ने व्यापार बंद करने की धोषणा के चलते इन उद्योग करने वालों को तकरीबन 1000 करोड़ का पेमेन्ट रूक चुका है. 

गुजरात केमिकल इंडस्ट्रीज का व्यापार बंद होने से जरूर नुकसान होगा, पर ज्यादा नुकसान पाकिस्तान को उठाना पड़ेगा. गुजरात के गुजरात डाइस्टफ मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन के मेम्बर चिंचन भाई की मानें तो पाकिस्तान को भारत से सस्ता और 6 महीने की क्रेडिट पर कोई केमिकल नहीं सप्लाइ कर सकता. यदि पाकिस्तान किसी और देश से केमिकल मंगवाता है तो उसको 25 से 30 प्रतिशत महंगा पड़ेगा.

लाइव टीवी देखें-:

गुजरात डाईस स्टाफिंग मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन की मानें तो भारत ने सन् 2018-19 में तकरीबन 3600 करोड़ से ज्यादा का केमिकल पाकिस्तान को निर्यात किया है. भारत में से पांच से सात प्रकार के केमिकल निर्यात होते हैं.

पिछले पांच साल में पाकिस्तान में निर्यात किए केमिकल की राशि पर नजर डालें तो-:
वर्ष राशि: करोड़ों में
2014-15: 1644.10
2015-16: 1300.42
2016-17: 2140.01
2017-18: 2377.34
2018-19: 3656.29

पाकिस्तान के टेक्सटाइल्स उद्योग की सीधी स्पर्धा बांग्लादेश और वियतनाम से हो रही है. डाइस स्टफ मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन के पदाधिकारियों के अनुसार पाकिस्तान का निर्यण टेक्सटाइल्स उद्योग को भारी पड़ेगा. पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापार बंद करके भारत के टमाटर और मिर्च से तो हाथ धो ही लिया था, अब लगता है कि केमिकल निर्यात बंद होने से पाकिस्तान के टेक्सटाइल्स उद्योग प्रभावित होगा.