शेयर बाजार में तेजी का सिलसिला, सेंसेक्स 264 अंक उछला

पिछले कई सत्र से लगातार टूट रहे शेयर बाजार में बुधवार को तेजी का सिलसिला दिखाई दिया. बुधवार को शुरुआती कारोबार में घरेलू निवेशकों की लिवाली के बीच धातु, बैंकिंग और रीयल एस्टेट कंपनियों के शेयर में तेजी आई और सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 250 अंक से ज्यादा चढ़ गया.

शेयर बाजार में तेजी का सिलसिला, सेंसेक्स 264 अंक उछला

मुंबई : पिछले कई सत्र से लगातार टूट रहे शेयर बाजार में बुधवार को तेजी का सिलसिला दिखाई दिया. बुधवार को शुरुआती कारोबार में घरेलू निवेशकों की लिवाली के बीच धातु, बैंकिंग और रीयल एस्टेट कंपनियों के शेयर में तेजी आई और सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 250 अंक से ज्यादा चढ़ गया. अन्य एशियाई बाजारों में सकारात्मक रुख से भी घरेलू शेयर बाजारों को मजबूती मिली है. कारोबारी सत्र के दौरान करीब 11 बजे 30 शेयर वाला सेंसेक्स 264.46 अंक चढ़कर 35610.59 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. वहीं 50 शेयर वाला निफ्टी 77.05 अंक की तेजी के साथ 10681.80 के स्तर पर देखा गया.

निवेशकों के सकारात्मक रुख से मजबूती
कारोबारियों के मुताबिक, घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) की मजबूत लिवाली से निवेशकों का रुख बाजार को लेकर सकारात्मक रहा. बंबई शेयर बाजार के पास मौजूद अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक, घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने मंगलवार को शुद्ध रूप से 1,163.85 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे जबकि विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) 813.76 करोड़ रुपये के शुद्ध बिकवाल रहे.

आयात शुल्क में बढ़ोतरी 1 मार्च तक के लिए टली
अमेरिका और चीन के बीच व्यापार मोर्चे पर जारी विवाद के समाधान की उम्मीद से अन्य एशियाई बाजारों में सकारात्मक रुख रहा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को कहा कि व्यापार समझौते पर चीन के साथ बातचीत काफी अच्छी चल रही है. हालांकि, उन्होंने एक मार्च की समयसीमा को आगे बढ़ाने को लेकर कोई बात नहीं कही. ट्रंप ने व्यापार वार्ता के लिए चीन से आयातित सामानों पर आयात शुल्क में वृद्धि को एक मार्च तक के टाल दिया था.

कारोबारियों ने कहा कि वैश्विक शेयर बाजारों की निगाह बुधवार को जारी होने वाले अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक के ब्योरे पर भी टिकी हुई है. अन्य एशियाई बाजारों में हांगकांग का हेंगसेंग शुरुआती कारोबार में 0.50 प्रतिशत, कोस्पी 1.17 प्रतिशत और जापान का निक्केई 0.70 प्रतिशत बढ़ा जबकि शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.15 प्रतिशत गिरा.