close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रिलायंस म्युचुअल फंड का बदला नाम, अब निप्पॉन इंडिया म्युचुअल फंड से जाना जाएगा

निप्पॉन लाइफ 130 साल पुरानी जापान की कंपनी है.

रिलायंस म्युचुअल फंड का बदला नाम, अब निप्पॉन इंडिया म्युचुअल फंड से जाना जाएगा
निप्पॉन इंडिया म्युचुअल फंड सबसे ज्यादा विदेशी निवेश वाली एएमसी है. (फोटो: IANS)

मुंबई: रिलायंस म्युचुअल फंड का नाम अब निप्पॉन इंडिया म्युचुअल फंड हो गया है. इसी के साथ निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस की कंपनी में 75% हिस्सेदारी हो गई है. सुंदीप सिक्का कंपनी के ईडी और सीईओ होंगे. कंपनी के मैनेजमेंट में कोई बदलाव नहीं होगा. निप्पॉन लाइफ के अंतराष्ट्रीय नेटवर्क की मदद से कंपनी के विस्तार में मददगार होगा. निप्पॉन लाइफ 130 साल पुरानी जापान की कंपनी है.

रिलायंस कैपिटल (आरकैप) ने रिलायंस निप्पॉन (Nippon) लाइफ एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड (RNAM) में अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिए जापान की निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस के साथ निर्णायक करार पर हस्ताक्षर किया था. आरनाम में अपनी हिस्सेदारी बेचने से रिलायंस कैपिटल को करीब 6,000 करोड़ रुपये की रकम मिलने का सौदा तय हुआ था.  

इस करार के क्रम में निप्पॉन भी 230 रुपये प्रति शेयर पर पब्लिक शेयरहोल्डरों के लिए आरनाम की हिस्सेदारी की खुली पेशकश करेगी, जोकि बाजार विनियामक के नियमों के अधीन होगी. इस प्रकार सूचीबद्ध कंपनियों के लिए अधिकतम प्रमोटर हिस्सेदारी 75 फीसदी तक प्राप्त की जाएगी.

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के अधिग्रहण संबंधी नियमों के तहत निर्धारित न्यूनतम 60-दिन की कीमत के लिए हस्तांतरण का मूल्य 15.5 फीसदी अधिमूल्य को दर्शाता है.

कंपनी ने कहा कि इस प्रक्रिया से प्राप्त पूरी रकम करीब 6,000 करोड़ रुपये का उपयोग रिलायंस कैपिटल के बकाये कर्ज में 33 फीसदी कमी करने में किया जाएगा.

रिलायंस समूह के अध्यक्ष अनिल अंबानी ने एक बयान में कहा था, "मैं प्रसन्न हूं कि हमारी पुरानी व अहम साझेदार कंपनी निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस आरनाम में अपनी हिस्सेदारी 75 फीसदी तक बढ़ा रही है. आरनाम की हिस्सेदारी का मुद्रीकरण हमारी ऑनलॉकिंग की रणनीति का हिस्सा है."

 

(इनपुट-एजेंसी से भी)