close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मोहम्मद आमिर ने अफरीदी का थप्पड़ खाने के बाद ही कबूली थी फिक्सिंग की बात: रज्जाक

मैंने अफरीदी से इस बारे में चिंता जताई, लेकिन उन्होंने कहा कि यह मेरा वहम है और कुछ भी गलत नहीं हो रहा है. 

मोहम्मद आमिर ने अफरीदी का थप्पड़ खाने के बाद ही कबूली थी फिक्सिंग की बात: रज्जाक
मोहम्मद आमिर. (फाइल फोटो)

कराची: पाकिस्तान के मोहम्मद आमिर (Mohammed Amir) आईसीसी वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने बुधवार को ऑस्ट्रेलिया के पांच विकेट झटके और पाकिस्तान की मैच में वापसी करा दी. आमिर वही खिलाड़ी हैं, जिन पर स्पॉट फिक्सिंग के चलते पांच साल का प्रतिबंध लग चुका है. पाकिस्तान के पूर्व ऑलराउंडर अब्दुल रज्जाक के मुताबिक मोहम्मद आमिर ने शाहिद अफरीदी से थप्पड़ खाने के बाद ही फिक्सिंग की बात तभी कबूली थी. 

अब्दुल रज्जाक ने साथ ही कहा कि आमिर के साथ दोषी करार दिए गए सलमान बट्ट पाकिस्तान के 2010 इंग्लैंड दौरे के काफी पहले से फिक्सिंग में शामिल थे. रज्जाक ने जीएनएन समाचार चैनल से कहा, ‘उन्होंने (अफरीदी) मुझसे कमरे से चले जाने को कहा लेकिन कुछ देर बाद मैंने चांटे की आवाज सुनी और फिर आमिर ने सच्चाई बताई.’ 

यह भी पढ़ें: INDvsNZ: जून के 3 दिन... और World Cup में टीम इंडिया का न्यूजीलैंड के खिलाफ हाल

रज्जाक ने देश का नाम बदनाम होने के लिए तत्कालीन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि आईसीसी के पास जाने के बजाए पीसीबी को खुद इन तीनों को इनके मना करने के बाद भी आड़े हाथों लेना चाहिए था और तुरंत घर भेज देना चाहिए था. उन्हें एक साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया जाना चाहिए था. पीसीबी ने ऐसा नहीं किया और पाकिस्तान क्रिकेट की इज्जत मटियामेट हो गई।.’

2011 में बट्ट, आमिर और मोहम्मद आसिफ को आईसीसी ने पांच साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया था. ये तीनों अब मैदान पर वापसी कर चुके हैं. रज्जाक ने बताया कि बट्ट इस मामले के सामने आने से पहले ही फिक्सिंग से जुड़े थे और जानबूझकर डॉट बॉल खेला करते थे. 

यह भी पढ़ें: ICC World Cup: भारत vs न्यूजीलैंड मुकाबला, पहली बार साथ उतरेगी यह जोड़ी...

उन्होंने कहा, ‘मैंने अफरीदी से इस बारे में अपनी चिंता जाहिर की थी. लेकिन तब उन्होंने कहा था कि यह मेरा वहम है और कुछ भी गलत नहीं हो रहा है. लेकिन, जब मैं टी20 विश्व कप में वेस्टइंडीज के खिलाफ बट्ट के साथ बल्लेबाजी कर रहा था तब मुझे पक्का यकीन हो गया कि वह टीम को नीचा दिखा रहा है.’

रज्जाक ने कहा, ‘मैंने उससे कहा कि मुझे स्ट्राइक दो तो उन्होंने इस बात पर मना कर दिया, जिसे सुनकर मुझे हैरानी हुई. तब मुझे अहसास हुआ कि ये क्या कर रहा है. हर ओवर में वह जानबूझ कर दो-तीन गेंद खाली खेल रहा था और इसके बाद मुझे स्ट्राइक देता था. मुझे गुस्सा आ गया था और मैं दबाव में आउट हो गया था.’