close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019: शोएब अख्तर ने बताया, अगर धोनी करते यह काम तो जीत जाती टीम इंडिया

विश्व कप सेमीफाइनल में  धोनी का रन आउट बड़ा टर्निंग प्वाइंट रहा. इस पर शोएब अख्तर ने कहा कि धोनी यह रन आउट टाल सकते थे और टीम इंडिया को जीत दिला सकते थे. 

World Cup 2019: शोएब अख्तर ने बताया, अगर धोनी करते यह काम तो जीत जाती टीम इंडिया
शोएब अख्तर के मुताबिक टीम इंडिया ने सेमीफाइनल में बढ़िया फाइट दी. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: टीम इंडिया और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच आईसीसी विश्व कप 2019 (World Cup 2019) सेमीफाइनल मुकाबले में टीम इंडिया की 18 रन से हार पर तमाम तरह के रिएक्शन्स आ रहे हैं पाकिस्तान के दिग्गज भी इसमें पीछे नहीं हैं. वैसे तो पाकिस्तान की ओर आने वाले रिएक्शन्स भारत के खिलाफ ही हैं, लेकिन पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर टीम इंडिया के साथ दिख रहे हैं. अख्तर हमेशा ही भारत-पाक सौहार्द जैसे माहौल लायक कमेंट्स करते रहे हैं. पहले उन्होंने कहा था कि विश्व कप में टीम इंडिया जिस तरह से खेली, उससे भारतीय फैन को खुश होना चाहिए और धोनी की तारीफ भी कीस लेकिन उसके बाद अख्तर इस पर भी रोशनी डाली कि टीम इंडिया यह मैच कैसे जीत सकती थी अगर धोनी एक खास काम कर जाते. 

जीत के करीब पहुंच गई थी टीम इंडिया
अख्तर मानते हैं कि भारतीय टीम महेंद्र सिंह धोनी और रविंद्र जडेजा की दमदार पारियों की बदौलत न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व कप के सेमीफाइनल में जीत के बेहद करीब पहुंच गई थी. ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर 240 रनों का पीछा करते हुए भारतीय टीम को 18 रनों से हार झेलनी पड़ी. इस मैच में जडेजा ने 77 और धोनी ने 50 रनों की पारी खेली. अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, "भारत जीत के करीब पहुंचकर भी चूक गया. मामूली गेंदों पर शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के आउट होने के बाद नीचे के बल्लेबाजों ने बेहतरीन वापसी की."

यह भी पढ़ें: एमएस धोनी ने दो बड़े मैचों में कंट्रोल किया था गेम, दोनों बार रन आउट और गए खिताब

टीम इंडिया जीत जाती अगर....
अख्तर ने कहा, "शीर्ष पांच बल्लेबाजों ने बेहद खराब बल्लेबाजी की. रोहित बेहतरीन गेंद पर आउट हुए, लेकिन विराट कोहली बहुत दुर्भाग्यशाली रहे क्योंकि उन्हें आउट देना खराब निर्णय था. गेंद केवल बेल पर लग रही थी और अम्पायर ने उन्हें आउट दे दिया. इसके बाद, जडेजा के आने तक किसी भी बल्लेबाज ने जुझारूपन नहीं दिखाया. धोनी ने भी भारत को मैच में बनाए रखा." उन्होंने कहा, "यह दुर्भाग्य था कि जडेजा उस गेंद पर आउट हुए जिस पर वह छक्का मार सकते थे. अगर धोनी ने डाइव मारा होता तो वह रनआउट नहीं होते और भारत को जीत दिला दी होती."

बहुत उम्मीदें थी टीम इंडिया से फैंस को
भारतीय टीम 2013 के बाद से एक भी आईसीसी टूर्नामेंट जीतने में कामयाब नहीं हो पाई है. टीम इंडिया के फैंस को अपनी टीम से इस बार काफी उम्मीदें थीं. लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ एक मैच में वे ध्वस्त हो गईं. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने भी कहा कि टीम पूरे टूर्नामेंट में बढ़िया खेली, लेकिन 40-45 मिनट के खराब खेल ने उनकी टीम को टूर्नामेंट से ही बाहर कर दिया.
(इनपुट आईएएनएस)