close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नल पर पानी भरने को लेकर दो पक्षों में हुआ खूनी संघर्ष, 6 लोगों की हालत गंभीर

शामली जिले के गांव भारसी में नल पर पानी भरने का विरोध करने पर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हुआ है. जिसमें तीन महिला सहित 6 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.

नल पर पानी भरने को लेकर दो पक्षों में हुआ खूनी संघर्ष, 6 लोगों की हालत गंभीर
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

शामली: शामली जिले के गांव भारसी में नल पर पानी भरने का विरोध करने पर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हुआ है. जिसमें तीन महिला सहित 6 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. सूचना पर पहुंची डायल हंड्रेड पुलिस ने सभी घायलों को सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया है. जहां से डॉक्टरों ने उसकी हालत को गंभीर देखते हुए जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया है वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस ने इस पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है. 
आपको बता दें पूरा मामला जनपद शामली के कांधला थाना क्षेत्र के भारसी गांव का है.

जहां पर नल पर पानी भरने गए युवक बलम के साथ पहले तो कहासुनी हुई और फिर उसके बाद देखते ही देखते दोनों पक्षों में जमकर खूनी संघर्ष हो गया. फिर एक दूसरे के पक्ष के लोगों को मारने पीटने के लिये अन्य लोगों ने भी हथियारों के साथ हमला किया. जिसमें जमकर दोनों पक्ष की ओर से चले लाठी-डंडे व धारदार हथियार से जमकर चले है.

वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को कांधला के सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया है. एक पक्ष में बलम, आरती, प्रेणना,  और काजल व संजय ओर दूसरे पक्ष से रोहित नीतिन ओर शकुंतला घायल हुए है. जहा से प्रथम उपचार के बाद 4 लोगो को हाई सेंटर रेफर कर दिया है.

और पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है वहीं इस मामले में घायल पक्ष के लोगों का कहना है कि पास में मौजूद नल पर पानी लेने के लिए हमारा बेटा गया था जहां पर पहले तो दूसरे पक्ष के लोगों ने उनके साथ गाली-गलौज की और फिर धारदार हथियारों से हमला कर दिया जिसमें एक पक्ष के 3 महिला सहित करीब 5 लोगों को घायल होने पर जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया तो वहीं दूसरी तरफ से तीन युवकों को गंभीर रूप से घायल होने पर उपचार  होने के बाद हाय सेंटर रेफर कर दिया जाए . 

उधर इस मामले में मौके पर पहुंची पुलिस कर्मी का कहना है कि नल पर पानी लेने के विवाद को लेकर दो पक्षों में झगड़ा हुआ था जिसमें करीब आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए हैं जिनको कांधला के सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया  और आगे की वैधानिक कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी.