Zee Rozgar Samachar

तलाक के बाद पत्नी को मारने के लिए गर्लफ्रेंड के साथ बनाया प्लान, जानें पूरा मामला

वारदात के पहले ही पुलिस ने आरोपी पति को उसके तीन साथियों और गर्लफ्रेंड के साथ दबोच लिया.

तलाक के बाद पत्नी को मारने के लिए गर्लफ्रेंड के साथ बनाया प्लान, जानें पूरा मामला
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली के पटेल नगर इलाके में तलाकशुदा पत्नी से बदला लेने के लिए एक टैटू आर्टिस्ट ने अपने पूर्व साले पर गोली चलवा दी. उसे यकीन था कि भाई को देखने के लिए उसकी पूर्व पत्नी अस्पताल आएगी तो वो उसकी हत्या कर देगा. लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने आरोपी पति को उसके तीन साथियों और गर्लफ्रेंड के साथ दबोच लिया.

बता दें कि पकड़े गए आरोपियों की पहचान मुख्य आरोपी विशाल शर्मा, रामदेव, अक्षय, गुड्डू कुमार और ताशी के रूप में हुई है. पुलिस ने आरोपियों के पास से दो पिस्टल, पांच मैगजीन, एक केटीएम ड्यूक बाइक, एक कार, हेलमेट और अन्य सामान बरामद किया है. दरअसल विशाल की पूर्व पत्नी चार साल की बेटी की कस्टडी चाहती थी जो अभी विशाल के पास है. पत्नी को रास्ते से हटाने के लिए विशाल ने लोकल बदमाशों का सहारा लिया.

दिल्ली में सेंट्रल जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया ने बताया कि 10 जुलाई को बाइक सवार दो बदमाशों ने लक्ष्य नागपाल नामक युवक को गोली मार दी थी. इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज करके छानबीन शुरू की. लोकल पुलिस के अलावा स्पेशल स्टॉफ के इंस्पेक्टर ललित कुमार और अन्य टीमों ने भी जांच शुरू की. छानबीन के दौरान लक्ष्य ने अपने पूर्व जीजा विशाल पर उसे गोली मरवाने का आरोप लगाया.

सूचना ‌के बाद पुलिस ने बैंक अकाउंट डिटेल और सीडीआर के जरिए विशाल की लोकेशन का प‌ता किया लेकिन आरोपी विशाल किरोड़ी स्थित अपने घर से गायब मिला. इस बीच घटना वाले दिन विशाल ने मुरथल के एक एटीएम से रुपये भी निकाले थे. बाद में पुलिस ने हमले का सीसीटीवी फुटेज खंगाला तो उसमें हमलावर दिखे.

ये भी पढ़ें- यूपी STF के हत्थे चढ़ा अबु सलेम का गुर्गा, डी कंपनी का डर दिखा करता था रंगदारी

उधर पुलिस को पता चला कि आरोपी विशाल, अक्षय और रामदेव पहाड़गंज के एक होटल में रुके थे. पुलिस ने वहां सीसीटीवी फुटेज की जांच की तो पता चला कि रामदेव हमले वाले दिन और होटल में रुकने के दौरान एक ही पैर में जूता पहने हुए दिखा था. इन सब सूचनाओं के मिलने के बाद पुलिस ने सभी की तलाश शुरू की.

छापेमारी के बाद पुलिस ने ओम विहार से पहले अक्षय और बाद में स्विफ्ट डिजायर कार के साथ गुड्डू को गिरफ्तार कर लिया. दोनों की निशानदेही पर द्वारका के एक होटल से विशाल और रामदेव को ‌भी गिरफ्तार कर लिया गया. पूछताछ के दौरान आरोपियों ने हमले की बात कबूली.

विशाल ने बताया कि उसने सिंगापुर से एक सिमकार्ड मंगवाया था. उसके जरिए वो अपने पूर्व साले लक्ष्य को फोन करके धमकी देता था. उसे ये नहीं पता था कि उसकी पत्नी अभी कहां रह रही है इसीलिए उसने रामदेव, अक्षय और गुड्डू की मदद से लक्ष्य पर हमला करवाया. इसके लिए ओएलएक्स से एक केटीएम बाइक खरीदी गई फिर रामदेव और अक्षय ने लक्ष्य को गोली मारी.

बाद में गुड्डू के साथ कार में बैठकर वो धौलाकुंआ पहुंचे, वहां उन्हें विशाल और ताशी मिले. वारदात के बाद सभी हरियाणा और पंजाब घूमने गए. फिर वहां पंजाब में एक दरगाह पर भी सब ने प्रार्थना की. विशाल का कहना है कि उसे लगता था कि लक्ष्य को गोली मारने के बाद उसकी पूर्व पत्नी अपने भाई को देखने आएगी तब उसकी हत्या कर दी जाएगी.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.