चाइल्ड पॉर्नोग्राफी के आरोप में भारतीय मूल के अमेरिकी को चार साल की जेल

पिट्सबर्ग के 28 वर्षीय अभिजीत दास को संघीय अदालत ने एक नाबालिग के उत्पीड़न को दिखाने वाली चीजों को रखने के मामले में 52 महीने की सजा सुनाई है.   

चाइल्ड पॉर्नोग्राफी के आरोप में भारतीय मूल के अमेरिकी को चार साल की जेल
प्रतीकात्मक तस्वीर

न्यूयॉर्कः अमेरिका में भारतीय मूल के एक व्यक्ति को चाइल्ड पॉर्नोग्राफी के मामले में दोषी करार देते हुए अदालत ने चार साल की सजा सुनाई है. जेल से रिहा होने के 10 साल बाद तक भी संबंधित व्यक्ति निगरानी में रहेगा. अमेरिकी अटॉर्नी स्कॉट ब्रैडी ने बताया कि पिट्सबर्ग के 28 वर्षीय अभिजीत दास को संघीय अदालत ने एक नाबालिग के उत्पीड़न को दिखाने वाली चीजों को रखने के मामले में 52 महीने की सजा सुनाई है. 

अमेरिका में लोगों का शादी के बंधन में न बंधने की वजह पॉर्नोग्राफी की लत

दास ने गैरकानूनी तरीके से कंप्यूटर में ग्राफिक फाइल रखी
अदालत को दी गई जानकारी के मुताबिक दास ने गैरकानूनी तरीके से कंप्यूटर में ग्राफिक फाइल रखी, जिसमें करीब 1,000 तस्वीरें और 380 वीडियो थे, जिसमें नाबालिगों से जुड़ी हुई अश्लील चीजें थीं. आरोपी के कंप्यूटर में ऐसे सामान की बरामदगी के बाद अमेरिकी पुलिस ने युवक को आरोपी बनाते हुए गिरफ्तार कर लिया. (इनपुटः भाषा)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.