ग्वालियर में बंधक बनी UP Police, 10 हत्याओं के आरोपी और उसके साथी को गई थी पकड़ने

नियम के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस को ग्वालियर आने की सूचना एसपी ग्वालियर को देनी चाहिए थी और लोकल पुलिस के सपोर्ट से ऑपरेशन को अंजाम देना चाहिए था. लेकिन UP पुलिस ने ऐसा नहीं किया.

ग्वालियर में बंधक बनी UP Police, 10 हत्याओं के आरोपी और उसके साथी को गई थी पकड़ने
सांकेतिक तस्वीर.

ग्वालियर: हत्या के आरोपी को पकड़ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर पहुंची यूपी पुलिस को बंधक बना लिया गया. मैनपुरी कोतवाली थाना पुलिस 1 लाख रुपए के इनामी गैंग्स्टर गुड्‌डू चौहान और उसके साथी 10 हजार रुपए के इनामी बदमाश सौरभ भदौरिया उर्फ गोविंद उर्फ प्रदीप की तलाश में ग्वालियर पहुंची थी. गुड्‌डू 10 हत्याओं का आरोपी है. 

ग्वालियर पुलिस को नहीं दी थी जानकारी
इंस्पेक्टर ओमजीत वाजपेयी और सब इंस्पेक्टर अमित सिंह पुलिस टीम का नेतृत्व कर रहे थे. नियम के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस को ग्वालियर आने की सूचना एसपी ग्वालियर को देनी चाहिए थी और लोकल पुलिस के सपोर्ट से ऑपरेशन को अंजाम देना चाहिए था. लेकिन UP पुलिस ने ऐसा नहीं किया.

घर में पत्थर लगवाए लेकिन पैसे नहीं देना चाहता था मकान मालिक, लाइसेंसी पिस्टल से कर दी मजदूर की हत्या 

यूपी पुलिस के जवानों को बंधक बनाया
यूपी पुलिस की टीम सीधे ग्वालियर के रानीपुरा में सोनू राठौर के घर जा पहुंची. सूचना थी कि सौरभ को सोनू ने शरण दे रखी है. इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर ओमजीत वाजपेयी और सब इंस्पेक्टर अमित सिंह सोनू के यहां बैठे रहे. सिविल ड्रेस में दो जवानों को सौरभ उर्फ गोविंद भदौरिया के ठिकाने पर भेजा.

दोनों जवानों ने अपने घर पर सो रहे बदमाश सौरभ भदौरिया को पकड़ लिया. जवान उसे पकड़कर कुछ दूरी पर खड़ी अपनी स्कॉर्पियो तक आ रहे थे, तभी स्थानीय लोगों और बदमाश के साथियों ने उन्हें घेर लिया. जवानों ने सौरभ भदौरिया को गाड़ी में बैठा लिया. तभी कुछ लोग पथराव करने लगे और यूपी पुलिस के दोनों जवानों को बंधक बना लिया.

लड़की के घर जा रही थी बारात, दूल्हे की कार का स्टीयरिंग व्हील हुआ फेल, 3 की मौत 2 घायल

हजीरा पुलिस ने दोनों जवानों को छुड़ाया
करीब 40 मिनट तक दोनों पुलिस जवान आरोपी के साथियों एवं स्थानीय नागरिकों के कब्जे में रहे. बदमाश सौरभ भदौरिया को उसके साथी जवानों के कब्जे से छुड़ा ले गए. ग्वालियर के हजीरा थाने की पुलिस ने उत्तर प्रदेश पुलिस के बंधक बनाए गए दोनों जवानों को छुड़ाया. CSP महाराजपुरा रवि भदौरिया ने बताया कि मैनपुरी पुलिस ने बिना सूचना दिए दबिश दी थी. इस मामले में यूपी पुलिस ने FIR दर्ज कराई है.

कौन हैं गुड्‌डू चौहान और सौरभ भदौरिया
यूपी के फिरोजाबाद के रसूलपुर में सौरभ उर्फ गोविंद उर्फ प्रदीप भदौरिया ने साल 2010 में अपनी पत्नी की हत्या की थी. इस मामले में उसकी गिरफ्तारी भी हो गई थी. वह पुलिस कस्टडी से फरार हो गया. वहीं गुड्‌डू चौहान पर हत्या के 10 मामले दर्ज हैं. उस पर भाजपा नेता मदन चौहान की गोली मारकर हत्या करने का आरोप है. इन्हीं दोनों की तलाश में मैनपुरी पुलिस ग्वालियर पहुंची थी.

WATCH LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.