close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुजरात उपचुनाव 2019: कांग्रेस-BJP ने घोषित किए 6 सीटों के लिए प्रत्याशी, पाला बदलकर लड़ रहे हैं अल्पेश

गुजरात विधानसभा के उपचुनाव (Gujarat by-election 2019) के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस के उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल कर दिया है. लोकसभा चुनाव में बीजेपी के 4 विधायकों ने लोकसभा का चुनाव लड़ा था.

गुजरात उपचुनाव 2019: कांग्रेस-BJP ने घोषित किए 6 सीटों के लिए प्रत्याशी, पाला बदलकर लड़ रहे हैं अल्पेश
कांग्रेस के टिकट पर विधायक बनने वाले अल्पेश ठाकोर इस बार बीजेपी के टिकट पर भाग्य आजमा रहे हैं.

अहमदाबाद: गुजरात विधानसभा के उपचुनाव (Gujarat by-election 2019) के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस के उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल कर दिया है. लोकसभा चुनाव में बीजेपी के 4 विधायकों ने लोकसभा का चुनाव लड़ा था, जिसके चलते ये सीटें खाली हुई थीं. खाली हुई सीटों में से थराद, लुणावाडा, खेरालू और अमराई वाडी निर्वाचन क्षेत्र शामिल है. बाकी की 2 सीटें कांग्रेस के टिकट पर जीतकर विधायक बने अल्पेश ठाकोर राधनपुर से और धवल सिंह झाला बायड से के पार्टी छोड़ने के चलते खाली हुई है. इन दोनों ने राज्यसभा चुनाव के वक्त क्रॉस वोटिंग करके भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार को वोट किया था, जिसके बाद इन दोनों ने अपने विधायकी से इस्तीफा दे दिया था. इन 2 सीटों के लिए भी सोमवार को बीजेपी कांग्रेस के उम्मीदवारों ने अपना नामांकन फाइल किया है.

गौरतलब है कि राधनपुर सीट पर भाजपा की ओर से अल्पेश ठाकोर को मैदान में उतारा है. राजनीति में आने से पहले अल्पेश ठाकोर सामाजिक चेतना के लिए गुजरात क्षत्रिय ठाकोर सेना चलाते थे. उन्होंने राहुल गांधी की उपस्थिति में कांग्रेस ज्वाइन किया था. अब भाजपा के उम्मीदवार हैं, दुसरी तरफ कांग्रेस ने रघु देसाई को अल्पेश ठाकोर के सामने खड़ा किया है. रघु देसाई गुजरात कांग्रेस के महासचिव हैं.

लाइव टीवी देखें-:

बायड विधानसभा बैठक की बात की जाए तो भाजपा की ओर से धवल सिंह झाला उम्मीदवार हैं. वे अल्पेश ठाकोर के कट्टर समर्थक और ठाकोर सेना के उप प्रमुख हैं. उनके सामने कांग्रेस की ओर से जसू भाई पटेल चुनाव लड़ रहे हैं. जशु भाइ पटेल के पिता विधायक थे. वे खुद कई बार जिला पंचायत का चुनाव जीत चुके हैं. वे साबर डेरी के डायरेक्टर भी हैं.

खेरालू बैठक की बात करें तो भाजपा ने अजमलजी ठाकोर को अपना उम्मीदवार बनाया है. अजमलजी ठाकोर खेरालु तालुक़ा पंचायत के कारोबारी चेयरमैन हैं और खेरालु भाजपा के संगठन मंत्री हैं. उनके सामने कांग्रेस ने बाबू जी ठाकोर को मैदान में उतारा है. बाबूजी ठाकोर कांग्रेसी हैं. 2012 के विधानसभा चुनाव में इनकी करारी हार हुई थी.

लुणावाडा बैठक की बात करें तो भाजपा ने जिग्नेश सेवक को उम्मीदवार बनाया है. जिग्नेश सेवक महासागर जिल्ला पंचायत के विपक्ष के नेता रह चुके हैं. वे जिला पंचायत के कारोबारी समितियों चैरमैन हैं. उनके सामने कांग्रेस ने गुलाब चौहान को टिकट दिया है. गुलाब सिंह के पिता भाजपा सरकार में मंत्री थे. गुलाब सिंह ने 2017 में कांग्रेस का दामन थामा था.

अहमदाबाद के अमराइवाडी विधानसभा क्षेत्र के लिए भारतीय जनता पार्टी ने जगदीश पटेल को मैदान में उतारा है. वे संघ के कार्यकता हैं और अहमदाबाद महानगर पालिका के कॉपोरेटर रह चुके हैं. अहमदाबाद भाजपा के अध्यक्ष रह चुके हैं. उनके सामने कांग्रेस ने धर्मेंद्र पटेल को चुनाव में खड़ा किया है. धर्मेन्द्र पटेल पाटीदार नेता हैं. गुजरात में चल रहे पाटीदार आंदोलन में महत्वपुर्ण भूमिका निभाई थी. मालूम हो कि 21 अक्टूबर को उपचुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे. इन 6 सीटों में से कौन ज्यादा सीटें जीतकर बाजी मारता है यह तो 24 अक्टूबर को ही मालूम पड़ेगा.