close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ऑफर हुआ था दुर्योधन का किरदार, भीष्म और शक्तिमान बनकर छाए थे मुकेश खन्ना!

बच्चों के प्यारे सुपरहीरो शक्तिमान, भोले-भाले गंगाधन और बड़ों के आदरणीय भीष्म पितामह के किरदारों में प्राण फूंकने वाले एक्टर मुकेश खन्ना आज अपना 61वां जन्मदिन मना रहे हैं.  

ऑफर हुआ था दुर्योधन का किरदार, भीष्म और शक्तिमान बनकर छाए थे मुकेश खन्ना!
नई दिल्ली: बच्चों के प्यारे सुपरहीरो शक्तिमान, भोले-भाले गंगाधन और बड़ों के आदरणीय भीष्म पितामह के किरदारों में प्राण फूंकने वाले एक्टर मुकेश खन्ना आज भी अपने किरदारों के चलते लोगों के जहन में अपनी खास जगह बनाए हैं. लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि अपने करियर की शुरुआत में ही भीष्म पितामह का गंभीर किरदार निभाने वाले मुकेश को पहले बीआर चोपड़ा ने दुर्योधन का किरदार ऑफर किया था. मुकेश खन्ना आज अपना 61वां जन्मदिन मना रहे हैं. इस मौके पर जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें...
 
भारतीय टेलीविजन इतिहास के सबसे कामयाब कार्यक्रमों में शुमार 'महाभारत' में भीष्म पितामह की यादगार भूमिका निभाने वाले मुकेश खन्ना को पहले दुर्योधन के किरदार की पेशकश की गई थी, लेकिन उन्होंने इस रोल के लिए साफ तौर पर मना कर दिया था. यह बात कुछ साल पहले एक इंटरव्यू में खुद मुकेश खन्ना ने बताई थी. उनका कहना है कि वह नकारात्मक भूमिकाएं नहीं निभा सकते इसीलिए उन्होंने दुर्योधन की भूमिका नहीं की.
 
अभिनेता मुकेश खन्ना ने बाल फिल्म सोसाइटी के प्रमुख पद से इस्तीफा दिया
 
इस बारे में विस्तार से बताते हुए खन्ना ने कहा था, 'मैंने महाभारत के लिए ऑडिशन दिया था. बी. आर. चोपड़ा ने मुझे दुर्योधन का किरदार निभाने के लिए कहा, लेकिन मैंने मना कर दिया. मैं नकारात्मक किरदार नहीं निभा सकता इसीलिए मैंने ऐसा किया. इसके बाद मुझे भीष्म पितामह की भूमिका दी गई.' 
 
 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 

Mukesh Khanna with kids at Raipur for his forthcoming film Saat Saath Hain

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna) on

अभिनय की दुनिया में अपना अलग मुकाम हासिल कर चुके मुकेश खन्ना का जन्म 18 जून 1958 को हुआ था. हालांकि कई जगह इस 22 जुलाई को उनका जन्मदिन बताया जाता है. वर्ष 1984 में उन्होंने फिल्मी दुनिया में कदम रखा. इसके बाद कुछ फिल्मों में काम किया, लेकिन उम्मीद के मुताबिक कायामबी नहीं मिली. 1980 के दशक में बीआर चोपड़ा की 'महाभारत' ने मुकेश की किस्मत बदल दी. 
 
 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 

Gangadhar Shaktimaan for the song Tum hi ho Shaktimaan

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna) on

मुकेश के यादगार रोल इन सीरिलय और फिल्मों में देखे गए, जिनमें सौदागर (1991), यलगार (1992), तहलका (1992), शक्तिमान (1993), मुख्य खिलाड़ी तू अनाड़ी (1994), बरसात (1995), राजा (1995), वीर (1995), हिम्मत (1996), मैदान-ए-जंग (1995), जज मुजरिम (1997), हेरा फेरी (2000) और प्लान (2004) शामिल हैं.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें