Aamir Khan के साथ चार लोगों को मिला कानूनी नोटिस, Thugs of Hindostan से जुड़ा है मामला

आमिर खान (Aamir Khan) और आदित्य चोपड़ा (Adiyta Chopra) के संग तीन अन्य के खिलाफ कोर्ट का नोटिस जारी किया गया है, सभी पर फिल्म में एक जाति विशेष को अपमानित करने की बात कही गई है. 

Aamir Khan के साथ चार लोगों को मिला कानूनी नोटिस, Thugs of Hindostan से जुड़ा है मामला
फाइल फोटो

नई दिल्ली: बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट के नाम से मशहूर एक्टर आमिर खान (Aamir Khan) अब एक मुश्किल में आ फंसे हैं. दो साल पहले रिलीज हुई फिल्म 'ठग्स ऑफ हिंदुस्तान' (Thugs of Hindostan) को लेकर अब आमिर खान के साथ फिल्म से जुड़े 4 लोगों के खिलाफ कानूनी नोटिस जारी किया गया है. सभी पर फिल्म के जरिए एक जाति विशेष को अपमानित करने की बात कही गई है. 

8 अप्रैल को होगी सुनवाई

दरअसल फिल्म 'ठग्स ऑफ हिंदुस्तान' (Thugs of Hindostan) में मल्लाह जाति को अपमानित करने को लेकर दर्ज एक शिकायत पर जौनपुर के जिला एवं सत्र न्यायाधीश मदन पाल सिंह की कोर्ट ने बीते दिन मंगलवार को फिल्म के लीड अभिनेता आमिर खान (Aamir Khan) और निर्माता आदित्य चोपड़ा (Adiya Chopra) के खिलाफ यह नोटिस जारी किया है. इस नोटिस के साथ यह भी जानकारी दी गई है कि मामले पर अगली सुनवाई के लिए 8 अप्रैल की तारीख तय की गई है.  

क्या है मामला?

आपको बता दें कि जौनपुर कोर्ट ने यह नोटिस आवेदनकर्ता हंसराज चौधरी द्वारा दाखिल की गई पुनरीक्षण याचिका पर जारी किया है. याद दिला दें कि हंसराज चौधरी ने फिल्म निर्माता आदित्य चोपड़ा, निर्देशक विजय कृष्णा, अभिनेता आमिर खान के खिलाफ यह फिल्म रिलीज होने के बाद ही शिकायत दर्ज कराई है. हंसराज का दावा है कि इस फिल्म 'ठग्स ऑफ हिंदुस्तान' में मल्लाह जाति को फिरंगी और ठग जैसे शब्द से संबोधित कर पूरी जाति की छवि को धूमिल कर उन्हें अपमानित किया गया है. 

इसे भी पढ़ें: Mika Singh ने खोज निकाला Sunny Leone का रिप्लेसमेंट, Aveera Singh लगती हैं सेम टू सेम

याचिका में एक ये भी आरोप

इस याचिका में अपमान की बात के साथ यह भी कहा गया कि इस फिल्म से वादी और गवाहों की भावनाएं आहत हुई हैं. याचिका में आरोप लगाया गया कि फिल्म की टीआरपी बढ़ाने और पैसे की लालच की दुर्भावना के कारण फिल्म का ऐसा नाम रखा गया. 

पहले क्यों रिजेक्ट हुई थी याचिका 

गौरतलब है कि इस फिल्म को लेकर जब पहली बार याचिका दायर हुई तो इसे मजिस्ट्रेट कोर्ट ने निरस्त कर दिया था. कोर्ट ने इस परिवाद निरस्त करते हुए कहा था, 'फिल्म में घटनाएं एवं पात्र काल्पनिक होते हैं, जिसका फिल्म की शुरुआत में ही जिक्र होता है. कोई कहानी किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए नहीं, बल्कि मनोरंजन के लिए बनाई जाती है.'

इसे भी पढ़ें: Janhvi Kapoor ने ब्लैक गाउन में शेयर कीं PHOTOS, लोग बोले- 'ऐसे बम गिराना गैरकानूनी होना चाहिए'

एंटरटेनमेंट की लेटेस्ट और इंटरेस्टिंग खबरों के लिए यहां क्लिक कर Zee News के Entertainment Facebook Page को लाइक करें 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.