पद्मश्री मिलने पर मनोज बाजपेयी बोले, 'अच्छा है कि ट्विटर पर कोई गाली नहीं दे रहा'

एक्टर मनोज बाजपेयी कहते हैं, "बहुत अच्छी फीलिंग है. जब एकमत फैसला होता है, उसका मज़ा ही कुछ और होता है."  

पद्मश्री मिलने पर मनोज बाजपेयी बोले, 'अच्छा है कि ट्विटर पर कोई गाली नहीं दे रहा'

 

मुंबई: 25 सालों से फिल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले बेहतरीन एक्टर मनोज बाजपेयी को पद्मश्री अवार्ड मिला है. अवार्ड मिलने की उन्हें जितनी खुशी है, उतना ही नाज़ है. उन्होंने अपने परिवार को गर्व महसूस करवाया. मनोज ने कहा, "मैं हमेशा कहता हूं कि जिस सम्मान से आपके अपने लोगों को लगे कि उनको सम्मान मिला है, वो सबसे बड़ी उपलब्धि है. सबसे बड़ा अवॉर्ड. मेरे परिवार के लोग, माता-पिता, मेरी पत्नी, मेरे दोस्त सबको ऐसा लग रहा है कि उन्हें पद्मश्री मिला है." 

मनोज बाजपेयी को दो नेशनल अवॉर्ड मिल चुके हैं और अक्सर एक्टिंग के मामले में वो क्रिटिक के फेवरेट रहे हैं लेकिन जब से पद्मश्री की घोषणा हुई, ट्विटर पर हर कोई उनका गुणगान कर रहा है. हर कोई इस बात से बेहद खुश है कि मनोज को यह सम्मान मिला. मनोज कहते है, "कमाल की बात है कि लोगो का ऐसा रिएक्शन है कि फाइनली मिल गया, पहले मिलना चाहिए था और ट्विटर-फेसबुक पर कोई भी गाली नहीं दे रहा. यहां तक कि कुछ लोगों के रिएक्शन्स तो ऐसे थे, अरे इनको नहीं मिला था, इनको मिला नहीं था क्या."

वो आगे कहते हैं, "बहुत अच्छी फीलिंग है. जब हर कोई मानता है कि मैं इस लायक हूं. जब एकमत फैसला होता है ना, उसका मज़ा ही कुछ और होता है. मैं इस मामले में लकी हूं. जब नहीं मिला तो ज्यादा हंगामा हुआ, मिलने के बाद लोगो ने कहा सही मिला है. वो ज्यादा बड़ी उपलब्धि है."

ऐसे मोटिवेशन के बाद मनोज और उनकी टीम काम के लिए काफी उत्साहित है. मनोज कहते है, "अब और काम करना है. मैं कह रहा था अपने आप को और टीम को की इतना खुश मत हो, काम से ही नेशनल अवॉर्ड और पद्मश्री मिलते हैं. काम पर ही ध्यान दो तो हमारा और हमारी टीम का जज्बा इसी बात से है कि हम हर दिन जो भी काम करे, छोटे से छोटा बड़े से बड़ा, वो हमारे लिए मुगलेआजम हो."