close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

TIFF में लैंगिक असमानता का विरोध करेंगी नंदिता दास, यूं दिया जवाब

अभिनेत्री से निर्देशक बनीं नंदिता दास को टोरंटो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (टीआईएफएफ) 2018 द्वारा 'शेयर हर जर्नी' नाम के अभियान में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया गया है.

TIFF में लैंगिक असमानता का विरोध करेंगी नंदिता दास, यूं दिया जवाब
नंदिता दास सार्वजनिक रैली में छह अविश्वसनीय महिलाओं के साथ अपना नजरिया साझा करेंगी(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अभिनेत्री से निर्देशक बनीं नंदिता दास को टोरंटो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (टीआईएफएफ) 2018 द्वारा 'शेयर हर जर्नी' नाम के अभियान में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया गया है. नंदिता यहां फिल्म उद्योग में लैंगिक असमानता के बारे में अपने विचार जाहिर करेंगी. नंदिता ने ट्वीट कर कहा, "टीआईएफएफ में 'मंटो' के उत्तरी अमेरिकी प्रीमियर के अलावा मैं 'शेयर हर जर्नी' में हिस्सा लूंगी और महोत्सव द्वारा आयोजित सार्वजनिक रैली में छह अविश्वसनीय महिलाओं के साथ अपना नजरिया साझा करूंगी. मैं इंतजार नहीं कर सकती हूं." 

इससे पहले कान्स फिल्मोत्सव में फिल्म की स्क्रीनिंग में शामिल हो चुकी नंदिता वहां भी लैंगिक भेदभाव का विरोध करती नजर आई थी. नंदिता लैंगिक असमानता के बारे में एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय मंच पर बोलने का मौका पाकर बेहद गर्व महसूस कर रही हैं. हाल ही में नंदिता दास ने अपनी फिल्म 'मंटो' और उससे जुड़े कारकारों को लेकर न्यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत की. इस बातचीत में नंदिता ने कहा, 'नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने इस फिल्म के लिए मात्र एक रुपये मेहनताना लिए है. ऐसे ही इस फिल्म के लिए कई अन्य मुख्य कलाकारों ने कोई फीस भी नहीं ली. ऋषि कपूर, परेश रावल, रणवीर शौरी, दिव्या दत्ता और जावेद अख्तर ने इस फिल्म के लिए कुछ भी मेहनताना नहीं लिया. ऋषि कपूर और गुरुदास मान ने पहली मीटिंग में ही इसके लिए अपनी हामी भर दी थी. परेश रावल के साथ मैं पहले भी काम चुकी हूं.'

 

पिछले दिनों मीडिया से बातचीत करते हुए नंदिता ने कहा था, 'मंटो हमेंशा से ही अपने विचारों को रखने की आजादी के साथ खड़े थे. उन्होंने अपने जीवन में संघर्षों और अपने लेखन के जरिए इसे प्रदर्शित भी किया है. उन्होंने सभी प्रकार की रूढ़िवादिता को चुनौती दी. इसके चलते उन्हें छह मुकदमों का भी सामना करना पड़ा. फिल्म मंटो में मुख्य भूमिका के लिए उन्होंने नवाजुद्दीन सिद्दीकी को चुना क्योंकि उनमें उर्दू के महान लेखक और कहानीकार की तरह कई समानताएं हैं.' फिल्म 'ठाकरे' नंदिता दास की पहली निर्देशित फिल्म है. यह फिल्म 21 सितंबर को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है.

(इनपुट आएएनएस)

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें