close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आज एक-एक रुपये के मोहताज हैं यह संगीतकार, बॉलीवुड की कई अच्छी फिल्मों में दे चुके हैं म्यूजिक

70 और 80 के दशक में, जहां वनराज का नाम बॉलीवुड के मशहूर संगीतकारों में लिया जाता था, आज 92 साल की उम्र में वह पैसों की तंगी से गुजर रहे हैं.

आज एक-एक रुपये के मोहताज हैं यह संगीतकार, बॉलीवुड की कई अच्छी फिल्मों में दे चुके हैं म्यूजिक
वनराज भाटिया मेमोरी लैप्स, गंभीर घुटने के दर्द और सुनने की समस्या से भी लड़ रहे हैं (फोटो साभारः यूट्यूब ग्रैब)

नई दिल्ली: बॉलीवुड के मशहूर संगीतकार वनराज भाटिया (Vanraj Bhatia) ने 2012 में गोविंद निहलानी की टीवी सीरीज 'तमस' के लिए सर्वश्रेष्ठ संगीत का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता था और 2012 में पद्मश्री से सम्मानित हुए थे. 70 और 80 के दशक में, जहां वनराज का नाम बॉलीवुड के मशहूर संगीतकारों में लिया जाता था, आज 92 साल की उम्र में वह पैसों की तंगी से गुजर रहे हैं, यहां तक ​​कि वह पुरानी बीमारियों से भी लड़ रहे हैं. 

बैंक खाते में एक रुपया भी नहीं
मीडिया में आई रिपोर्ट्स के अनुसार भाटिया ने खुद इस बात का खुलासा करते हुए कहा, "मेरे पास पैसे नहीं हैं, मेरे बैंक खाते में एक रुपया भी नहीं बचा है.' यहां तक ​​कि वह मेमोरी लैप्स, गंभीर घुटने के दर्द और सुनने की समस्या से भी लड़ रहे हैं. बता दें, बॉलीवुड के दिग्गज फिल्म डायरेक्टर प्रकाश झा की फिल्म 'हिप हिप हुर्रे' और 'तमस', 'अंकुर', 'मंथन, 'भूमिका', 'मंडी' और 'जुनून' जैसी कई अच्छी फिल्मों में भाटिया संगीत दे चुके हैं. 

नौकर के साथ रहते हैं भाटिया
रिपोर्ट्स की मानें तो अपनी जीवन यापन के लिए भाटिया अब अपनी घरेलू समान बेचने पर मजबूर हैं. लंबे समय से उन्होंने ने अपना मेडिकल जांच नहीं करवाया है और शायद यही वजह है कि उनके असफल स्वास्थ्य की सटीक स्थिति का पता भी नहीं चल पाया है. बस इतनी जानकारी है कि उन्हें एक कमरे से दूसरे कमरे में जाने के लिए मदद की जरूरत पड़ती है और इसमें उनका साथ उनके साथ रह रहा एक नौकर देता है, जो पिछले कई सालों से भाटिया के साथ रह रहा है. 

लंदन से ली वेस्टर्न क्लासिकल म्यूजिक की शिक्षा
खबर है कि भाटिया के दोस्तों और प्रशंसकों ने उनके मेडिकल खर्च के लिए चंदा देना शुरू कर दिया है, हालांकि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. जिस घर में वनराज रह रहे हैं उसकी देखरेख भी डोनेशन के पैसे से हो रहा है. हालांकि जितना पैसा उन्हें मिल रहा है वह वनराज के खर्च उठाने के लिए काफी नहीं है. 1989 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित भाटिया ने लंदन में स्थित रॉयल एकेडमी ऑफ म्यूजिक से वेस्टर्न क्लासिकल म्यूजिक की शिक्षा ली थी. 

बॉलीवुड की और भी खबरें पढ़ें