Amrita Rao ने आज के हालात पर कसा तंज, बोलीं- 'पहले टैलेंट था, अब...'

साल 2002 में अमृता राव ने बॉलीवुड में डेब्यू किया था. वह तबसे बॉलीवुड में आए बदलाव को देखती आ रही हैं. एक्ट्रेस ने इतने वर्षों में आए बदलाव को लेकर खुलकर अपनी बात रखी है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Nov 30, 2020, 21:06 PM IST

नई दिल्लीः एक्ट्रेस अमृता राव (Amrita Rao) का कहना है कि पहले की तुलना में आज कलाकारों के लिए विजिबिलिटी का कॉन्सेप्ट बदल गया है. यह सोशल मीडिया और टैलेंट मैनेजमेंट फर्मों की बदौलत हुआ है.

1/7

शर्म से लाल हो गई थीं अमृता

Amrita Rao first’s interaction with fans

अमृता आगे बताती हैं, ‘मैं युवा थी, तब मुझे नहीं पता था कि मैं कैसे प्रतिक्रिया दूं. मैं मुस्कुराई और अपने चेहरे को हाथों से ढक लिया, क्योंकि मुझे शर्म आ रही थी. मेरे दिमाग में यह घूम रहा था कि 'क्या ऐसा होता है?' इसका मतलब है कि उन्होंने वाकई में मेरी फिल्म देखी थी और मुझे पहचान लिया था.'

2/7

यादगार लम्हा

Memorable moment

अमृता ने तब के दौर की यादें साझा कीं. उन्होंने बताया, मुझे याद है कि मेरी भावनाएं मिली-जुली थीं. जब भी मैं इसे याद करती हूं, मेरे चेहरे पर एक मुस्कान आ जाती है. 'मैं हूं ना' की सफलता की पार्टी का अवसर था. वहां कॉलेज के छात्रों का एक समूह खड़ा था, जिन्होंने मुझे देखा और मुझे 'संजना' कहा. 

3/7

कौशल बढ़ाने पर होता था जोर

Skill development

अमृता ने इंडस्ट्री में तब प्रवेश किया था, जब इंडस्ट्री बदलाव के दौर से गुजर रही थी. वह कहती हैं, ‘इससे पहले, प्रतिभा का होना महत्वपूर्ण था और एक कलाकार के रूप में, हम अपने कौशल को बेहतर करते थे. अब टैलेंट मैनेजमेंट जैसी चीजें भी हैं. एक तरह से यह एक अच्छा परिवर्तन है जो कलाकारों को नौकरी के अवसर के साथ अधिक सुरक्षित महसूस कराता है.'

4/7

आया बड़ा बदलाव

Big change

हालांकि अमृता का यह भी कहना है कि सोशल मीडिया पर लोकप्रिय हस्ती बनने में कोई बुराई नहीं है, बस एक बड़ा बदलाव हुआ है. 

5/7

परफॉर्मेंस है ज्यादा जरूरी

performance is more important

एक्ट्रेस का मानना है कि इन दिनों अभिनेता सोशल मीडिया पर अपनी उपस्थिति के कारण भी लोकप्रिय हो रहे हैं. मुझे लगता है कि एक अभिनेता के लिए, एक चरित्र और फिल्म के लिए याद किया जाना ज्यादा महत्वपूर्ण है.'

6/7

प्रतिभा का सम्मान

respect of talent

अमृता ने बताया कि जब मैंने फिल्म इंडस्ट्री में प्रवेश किया था, तब मुझे 'इश्क विश्क', 'मस्ती', और 'मैं हूं ना' जैसी फिल्मों में सराहा गया था. लोगों ने मेरे काम की वजह से मुझ पर ध्यान दिया. जबकि 'मैं हूं ना' जैसी फिल्म में शाहरूख खान और सुष्मिता सेन जैसे सुपरस्टार नजर आए थे.

7/7

सोशल मीडिया और पीआर मशीनरी

social media and PR machinery

हाल में अमृता राव (Amrita Rao) ने मीडिया से कहा, 'सोशल मीडिया और पीआर मशीनरी के इस दौर से पहले, एक कलाकार की लोकप्रियता उसकी प्रतिभा की देन होती थी.